निधन:साहेबपुरकमाल के परोरा में साक्षरता कर्मी के असामयिक निधन पर शोक

साहेबपुरकमाल9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सनहा पश्चिम पंचायत के परोरा गांव निवासी साक्षर भारत कार्यक्रम के वरीय प्रेरक सह पल्स पोलियो उन्मूलन में पर्यवेक्षक के पद पर कार्यरत विकास कुमार सिंह के असामयिक निधन से साक्षरता कर्मियों में शोक की लहर दौड़ गई है। लोक शिक्षा समिति के प्रखंड समन्वयक रणवीर कुमार रमण, नंद देव कुमार, निरंजन कुमार, अनुज कुमार, सुमन कुमार, राजेश कुमार, पूनम कुमारी, महजबी खातून, प्रभात सिन्हा आदि ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया और उन्हें श्रद्धांजलि दी। प्रखंड समन्वयक श्री रमण ने कहा कि साथी विकास कुमार सिंह का निधन से न सिर्फ उनके परिवार को क्षति पहुंचा है। बल्कि साक्षरता कर्मियों के लिए भी अपूर्णीय क्षति है। उन्होंने कहा कि साक्षर भारत कार्यक्रम में वे सनहा पूर्वी पंचायत में वरीय प्रेरक के पद पर कार्यरत रहते हुए करीब एक दशक से अधिक समय तक साक्षरता आंदोलन का नेतृत्व भी किए थे। उन्होंने कहा कि 31 मार्च 2018 को भारत सरकार ने इस कार्यक्रम को बंद कर दिया। परंतु वरीय प्रेरक का 22 माह का मानदेय का भुगतान नहीं किया। जिसके वजह से प्रेरकों का आर्थिक स्थिति चरमरा गया। उन्होंने कहा कि आर्थिक तंगी की वजह से बीमार होने पर उनका ससमय इलाज संभव नहीं हो पाया। जिसके कारण असमय ही उनकी मौत हो गई।

खबरें और भी हैं...