सोशल वर्क में छपरा के बच्चे को राष्ट्रीय बाल पुरस्कार:पल साक्षी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हुआ वर्चुअली रूबरू, क्लास 3 का है स्टूडेंट

सारण5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छपरा के केंद्रीय विद्यालय के क्लास 3 का छात्र पल साक्षी। - Dainik Bhaskar
छपरा के केंद्रीय विद्यालय के क्लास 3 का छात्र पल साक्षी।

छपरा ही नहीं सूबे के लिए गर्व की बात है कि शहर के साहेबगंज निवासी मनीष कुमार व शिक्षिका रश्मिता साह के पुत्र पल साक्षी का चयन राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2022 के लिए चुना गया है। सोशल वर्क में अच्छा काम करने वाले पल साक्षी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऑनलाइन रूबरू हुए। आठ वर्षीय पल साक्षी केंद्रीय विद्यालय छपरा के कक्षा तीन का छात्र है। इसे छपरा में शतरंज का नन्हें जादूगार भी लोग कहते हैं।

उल्लेखनीय हाे कि भारत सरकार महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार के लिए नामांकन ऑनलाइन मांगे गए थे। इसमें पल साक्षी की तरह समाजसेवा कोटि से आवेदन किया गया था। बाल शक्ति पुरस्कार के तहत नवीन अविष्कार, असाधारण शैक्षिक योग्यता कला, खेलकूद, सांस्कृतिक क्षेत्र, समाज सेवा, बहादुरी के क्षेत्र में असाधारण उपलब्धि हासिल करने वाले बच्चे को मिलता है, जिनकी आयु 18 साल तक की होती है।

पुरस्कार के रूप में एक लाख रूपए की राशि एवं एक मेडल प्रदान किया जाएगा। बाल शक्ति पुरस्कार विजेताओं को गणतंत्र दिवस परेड में शामिल किया जाता है। इस बार कोरोना के कारण शामिल किया जाएगा कि नहीं इस पर अंतिम निर्णय नहीं हुआ है। पल साक्षी ऑनलाइन चैरिटी के माध्यम से धन संग्रह का पीएम केयर्स फंड में पैसा भेजा था। कोरोना काल में पल साक्षी ने ₹10000 पीएम केयर्स फंड में भी भेजा था। इसके साथ ही उसने चैरिटी के माध्यम से धन संग्रह किया था।

मगरमच्छ से भाई की बचाई जान, मिलेगा राष्ट्रीय बाल पुरस्कार

खबरें और भी हैं...