पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाढ़ में जैसे-तैसे हुई शादी, नाव से विदाई:सारण के गांव में हो रही थी शादी, भर आया गंडक का पानी; नाव से करनी पड़ी दूल्हा-दुल्हन की विदाई

सारणएक महीने पहले

सारण जिले के तरैया प्रखंड के सीमावर्ती क्षेत्र के सगुनी-रामपुररुद्र गांव में गुरुवार को बारात आई थी। अचानक रात्रि में गंडक नदी का पानी फैलने से बाढ़ जैसे हालात हो गए। इसके बाद शुक्रवार की सुबह नाव से दूल्हा-दुल्हन की विदाई की गई।

गांव के दिलीप सहनी की पुत्री का विवाह हो रहा था कि अचानक गंडक नदी का जलस्तर बढ़ने से गांव में बाढ़ जैसे हालात हो गए। फिर किसी तरह वैवाहिक रस्म को पूर्ण करते हुए दूल्हा-दुल्हन परिणय सूत्र में बंधे। दुल्हन के पिता ने बताया कि बारात मसरख के चैनपुर चरिहारा से आई थी। बारातियों के स्वागत के साथ खाना खिलाया गया। कुछ बाराती गाड़ी से वापस चले गए। उसके बाद शादी की रस्म अभी शुरू ही हुई थी, अचानक गंडक नदी का पानी गांव में घुस गया। फिर किसी तरह रस्म पूरी की गई। सुबह में कुछ बारातियों के साथ दूल्हा-दुल्हन को नाव से विदा किया गया।

सारण जिला का उत्तरी क्षेत्र गंडक नदी में पानी बढ़ने से बाढ़ ग्रस्त हो जाता है। प्रत्येक साल नेपाल से पानी छोड़े जाने या अत्यधिक वर्षा के कारण गंडक में उफान के चलते सैकड़ों गांव टापू के रूप में तब्दील हो जाते हैं। यही हालत तरैया प्रखंड के सगुनी रुद्रपुर का भी रहता है।

खबरें और भी हैं...