कोरोना अपडेट:28 घंटे में 28 नए पॉजिटिव मरीज मिले, 10 संक्रमित हुए स्वस्थ

सासाराम16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ,, नए साल में अबतक 49 पॉजिटिव मिले, 12 हुए स्वस्थ , सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 48 हो गई है

जिले में कोरोना वायरस का संक्रमण तीगुने रफ्तार में तेजी से पांव पसारने लगा है। शुक्रवार को आई रिपोर्ट में पिछले 24 घंटे में 28 नए संक्रमित मरीज मिले है। जबकि पूर्व के संक्रमित 10 मरीजों ने काेरोना को मात दे दी है। जिसके बाद जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 48 हो गई है। एक दिन पूर्व गुरूवार को इस साल के सर्वाधिक नौ पॉजिटिव मरीज मिले थे। लेकिन शुक्रवार को आई रिपोर्ट में 28 नए केस ने नौ के सर्वाधिक नए मरीजों के रिकार्ड को ध्वस्त कर दिया है। कोरोना संक्रमण की रफ्तार को देखकर जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की चिंता एक बार फिर से बढ़ गई है। ॉ

विभाग के जिला अनुश्रवण एवं मूल्यांकन पदाधिकारी रितु रात ने बताया कि पिछले 24 घंटे में आरटीपीसीआर, ट्रुनॉट व एंटीजन कीट के माध्यम से 5591 लोगों की जांच कराई गई। जिसमें 137 रेल यात्री भी शामिल है जिनकी जांच विभिन्न स्टेशनों पर कराई है। इनमें कोई भी यात्री पॉजिटिव नहीं मिला। रिपोर्ट में 28 पॉजिटिव मरीज मिले है। प्रभारी सिविल सर्जन डॉक्टर केएन तिवारी ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण में तेजी देखी जा रही है। तीसरी लहर को लेकर विभाग पूरी तरह से अलर्ट है। स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों और कर्मियों को जरूरी निर्देश दे दिए गए हैं।

नए साल में अबतक 49 पॉजिटिव मिले, 12 संक्रमित हुए स्वस्थ
नए साल के आगमन के साथ ही तीसरी लहर के दस्तक ने लोगों की नींद उड़ा दी है। 1 जनवरी से अब तक 34392 लोगों की जांच में 49 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। नए साल में 12 संक्रमित मरीजों ने कोरोना वायरस को हराया है। इसके पूर्व 31 दिसम्बर तक सक्रिय मरीजों की संख्या 11 थी। विभाग के अधिकारियों की माने तो संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए जांच में भी तेजी ला दी गई है। वहीं दूसरी ओर वैक्सीनेशन का काम भी जोरों पर है। 15 से 18 वर्ष आयु के किशोर व किशोरियों के वैक्सीनेशन के लिए लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं। जिले के विद्यालयों के अलावे विभिन्न टीकाकरण केंद्रों पर भी टीकाकरण किए जा रहे हैं।

लक्षण समझ में आए तो सबसे पहले खुद को करें आइसोलेट
प्रभारी सिविल सर्जन कोरोनावायरस को लेकर सरकार द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन का पालन करने की अपील जिले वासियों से की है। उन्होंने कहा कि सतर्कता और समझदारी करुणा से बचाव का मूल मंत्र है। ऐसे में अगर किसी को भी कोरोना से संबंधित संक्रमण का लक्षण खुद में दिखाई दे तो सबसे पहले अपने को घरों में आइसोलेट कर अपने पास के सरकारी अस्पतालों में संपर्क करें। ताकि समय रहते हम वैसे लोगों का इलाज हो सके।

अखबारों के माध्यम से घर-घर पहुंचाए जाएंगे जागरुकता ब्रोशर
कोरोना संक्रमण में आई तेजी को देखते हुए राज्य सरकार और जिला प्रशासन का जागरूकता पर विशेष जोर है। जिले वासियों को जागरूक करने के लिए घर-घर जागरूकता ब्रोशर पहुंचाए जयेंगे। विभागीय जानकारी के अनुसार इसके लिए जिले के समाचार पत्रों के वितरकों से समन्वय स्थापित अखबार के साथ ब्रोशर का वितरण 9 जनवरी को सुनिश्चित किया जाएगा। प्रभारी सिविल सर्जन ने बताया कि जागरूकता ब्रोशर में होम आइसोलेशन में किस प्रकार से रहना है इसकी जानकारी दी गई है। वही संक्रमण के पहचान एवं प्रबंधन की संपूर्ण जानकारियां रहेंगी। उक्त ब्रोशर जागरूकता और कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में कारगर साबित हो सकता है।

खबरें और भी हैं...