पड़ताल:18 सड़कों की नाकाबंदी कर ग्रामीण सड़कों को भूला प्रशासन, जिनसे हो रही यूपी व अन्य जिलों से आवाजाही

सासाराम2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सड़कों पर सीसीटीवी कैमरों से की जा रही निगरानी, मुख्य सड़कों से जरूरी काम वाले लोगों का ही आवागमन

(नरेंद्र कुमार) रोहतास के पड़ोस के पांच जिलों से आने जाने वाले लोगों पर लॉकडाउन के बाकी दिनों के लिए चौकसी और बढ़ा दी गई है, पर प्रशासन ग्रामीण इलाकों की उन सड़कों को भूल गया जिनके जरिए लोगों का आवागमन हो सकता है। ऐसी सड़कें छह से ज्यादा हैं। इनमें न बैरिकेडिंग की गई है और न ही पुलिस की तैनाती है। उत्तरप्रदेश के सोनभद्र जिले से रोहतास के नौहट्टा में प्रवेश कर रही सड़क पर पुलिस की निगाहें हैं। गुजर रहे हर व्यक्ति से पूछताछ, आधार कार्ड की जांच और आने की वजह जानने के लिए मजिस्ट्रेट बहाल हुए हैं। रोहतास एसपी सत्यवीर सिंह ने इस चौकसी को मजबूत बनाने के लिए शनिवार देर रात एक वायरलेस संदेश जारी कर अतिरिक्त पुलिस बल लगाने की अनुशंसा भी कर दी। रविवार देर रात इस निर्देश पर 18 मुख्य सड़कों पर चौकसी बढ़ा दी गई है।

सोन नदी का एक रास्ता किया गया बंद, दो पुलों पर बैरियर
जिले के पूरब से गुजर रहे सोन नदी के ऊपर बने इंद्रपुरी बराज के रास्ते को प्रशासन ने पूरे लॉक डाउन अवधी के लिए स्थानीय रूप से बंद कर दिया। इसके अलावे डेहरी ऑन सोन में राष्ट्रीय राजमार्ग दो जवाहर सेतू, औरंगाबाद के दाउदनगर से आने वाले नासरीगंज सोन पुल के रास्ते को सील कर उस पर बैरियर लगा दी गई है। उन्हीं लोगों की आने की अनुमति है जो आवश्यक कारणों को समझा पाते हैं। नहीं तो वाहनों का भी आना जाना बंद कर दिया गया है। 
लोक निर्माण विभाग की सड़कों पर भी लगे बैरियर
लॉक डाउन पालन के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग और स्टेट हाइवे के अलावे रोहतास प्रशासन ने लोक निर्माण विभाग की सड़कों को भी सील किया है। इनमें पीरो बभनौल अड्डा पथ पर कोआथ के समीप, भभुआ चेनारी पथ पर लांजी के समीप बैरियर लगा सील किया गया है।

दंडाधिकारी के साथ पुलिस पदाधिकारी व आठ जवान 
जिले से गुजर रहे दो राष्ट्रीय राजमार्ग जीटी रोड और एनएच 30 को क्रमश:  खुर्माबाद व डेहरी में तथा मलियाबाग और परसथुआं में सील कर दिया गया है। एक दंडाधिकारी के साथ पुलिस पदाधिकारी व आठ जवानों की चौबीस घंटे तैनाती है।

इन सड़कों पर नहीं गई नजर
कुछ ग्रामीण सड़कें अछूती रह गई हैं, जो सीधे रोहतास जिले में आकर मिलती हैं। इसमें कैमूर जिला से रोहतास को जोड़ने वाले दुर्गावती जलाशय परियोजना की बांध वाली सड़क, चेनारी को जोड़ रही दुर्गावती नदी पार कर आने वाले अमाव पथ, कैमूर के रामपुर प्रखंड क्षेत्र के कुछ गांवों से जुड़ी तेंदुआ रेड़िया स्कूल पथ, कुदरा परसथुआं सड़क से निकलकर करगहर में प्रवेश कर रहे खरारी बरांव पथ, रीवां करगहर पथ, फुली करगहर पथ, कैमूर के कुछिला की तरफ से आ रहे करगहर राजवाहा की लहेरी पुल पथ, बक्सर के तरफ से आने वाले बक्सर लाइन मुख्य नहर की सेवा पथ, बक्सर के कड़सर से रोहतास में प्रवेश कर रहे ओएना लाइन राजवाहा पथ मुख्य रूप से शामिल हैं। इन सड़कों से लोगों का आवागमन अभी भी जारी है।

खबरें और भी हैं...