मामले पेंडिंग / फाइलों में सिमटे सरकारी भूमि पर कब्जा के मामले

Cases of government land capture in files
X
Cases of government land capture in files

  • कार्रवाई न होने से सरकारी भूमि पर आतिक्रमण कर कब्जा जमाए बैठे लोगों के हौसले बुलंद

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

सासाराम. सासाराम प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में अब भी बड़ी संख्या में सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा है। लेकिन अंचलाधिकारी के उदासिनता के कारण अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो पा रही। जिससे सरकारी भूमि पर आतिक्रमण कर कब्जा जमाए बैठे लोगों के हौसले बुलंद है। सदर अंचल में सैकड़ों अतिक्रमण वाद दायर फाइल को धूल चाटने के लिए कार्यालय में छोड़ दिया गया है। स्थिति यह है कि दायर वाद  में एक साल बाद भी अतिक्रमण कारियों को नोटिस तक नहीं किया गया है।

ऐसी हालत में इस बात का अंदाजा लगया जा सकता है कि सरकार के निर्देश को ले अधिकारी कितने गंभीर है। सरकारी भूमि अतिक्रमण के तहत अधिकतर भूमि गैर मजरुआ आम, गैर मजरुआ खास, केसरे हिंद से लेकर खासमहाल की श्रेणी की हैं। सरकार ने सभी तरह की सरकारी भूमि को अतिक्रमण से मुक्त का निर्देश जारी कर रखा है। इसके लिए नई रणनीति भी बनायी गई है। जिसके तहत अब जमीन पर नए या पुराने किसी तरह के अतिक्रमण पाए जाने पर संबंधित अफसर ही नपेंगे। 
ढ़िलाई बरतने वाले अफसर के विरूद्ध  कार्रवाई के है निर्देश:  खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जब जिलावार निश्चय यात्रा की थी, तो पाया गया कि लोकभूमि के अतिक्रमण से संबंधित शिकायतें काफी अधिक हैं। लोक शिकायत अधिनियम के तहत दायर वादों में भी सर्वाधिक मामले सरकारी भूमि के अतिक्रमण से जुड़े थे। सरकार के निर्देश पर राजस्व विभाग ने अतिक्रमण हटाने की पहल की है। विभाग के अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह ने इस मामले में पत्र जारी कर निर्देश दिया है। उन्होंने लोक भूमि अतिक्रमण अधिनियम 1956 के धारा 3 के तहत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। कहा है कि अतिक्रमण की सूचना मिलने पर सीओ को अंचल निरीक्षक, अमीन से ही जांच कराकर अतिक्रमणवाद दायर करा देना है। कोई मामला दायर नहीं कराने पर संबंधित विभाग के अफसर की ढ़िलाई व उसमें संलिप्तता ही मानी जाएगी।
अतिक्रमण की फाइल की समीक्षा कर रहा: सीओ 
एक महीना पूर्व ही पदभार ग्रहण किया हूं। पूर्व से लंबित मामलों के निष्पादन में लगा हूं। मेरे पूर्व से ही सरकारी भूमि अतिक्रमण के मामले पेंडिंग हैं। अतिक्रमण वाद वाली फाइल की समीक्षा कर रहा हूं। लंबित वादों में कार्रवाई के लिए संबंधित कर्मी को आदेश दिया जा चुका है। कार्यालय में कर्मी की कमी के कारण कार्य प्रभावित है जिसे अपडेट करने की कोशिश कर रहा हूं। जल्द ही लंबित मामलों का निष्पादन हो जाएगा। -राकेश कुमार, अंचलाधिकारी, सासाराम

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना