आरोप:निगरानी के हत्थे चढ़ा सीएस कार्यालय का लिपिक

सासारामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
निगरानी टीम के साथ गिरफ्तार लिपिक। - Dainik Bhaskar
निगरानी टीम के साथ गिरफ्तार लिपिक।
  • डायग्नोस्टिक सेंटर का लाइसेंस निर्गत करने के लिए संचालक से 10 हजार रुपये लेने का आरोप

सासाराम में निगरानी विभाग की टीम ने 10 हजार रुपए घूस लेते सिविल सर्जन कार्यालय के लिपिक को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार लिपिक राज कृष्ण की गिरफ्तारी सिविल सर्जन कार्यालय के गेट के बाहर एक दुकान के समीप से हुई। जहां वह एक डायग्नोस्टिक सेंटर का लाइसेंस निर्गत करने के लिए बतौर घूस 10 हजार रुपए संचालक से ले रहा था। तभी पहले से पूर्व प्लानिंग के तहत अगल-बगल खड़े खड़े निगरानी टीम के लोगों ने उसे रंगे हाथ धर दबोच लिया। लिपिक की गिरफ्तारी के बाद जब तक लोग कुछ समझते तब तक निगरानी टीम ने उसे कुछ ही समय में वहां से नौ दो ग्यारह कर दिया।

निगरानी टीम का नेतृत्व कर रहे डीएसपी अरुण पासवान ने बताया कि लिपिक की गिरफ्तारी के बाद इसकी सूचना तत्काल उसके अधिकारी को दे दी गई। उसके बाद निगरानी टीम पटना के लिए रवाना हो गई। सिविल सर्जन कार्यालय के लिपिक के निगरानी के हत्थे चढ़ने की खबर सुनते ही स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप सा मच गया। सिविल सर्जन कार्यालय के आसपास स्वास्थ्य विभाग के लोगों का जमावड़ा देखा गया। मामले की सूचना मिलने के तुरंत बाद प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. केएन तिवारी सिविल सर्जन कार्यालय पहुंचे। उन्होंने बताया कि निगरानी विभाग के डीएसपी द्वारा मुझे बस इतनी जानकारी दी गई कि सिविल सर्जन कार्यालय के एक लिपिक को घूस लेने के आरोप में निगरानी टीम के लोग गिरफ्तार कर ले गए हैं। मामला क्या है इस बात की जानकारी नहीं मिल पाई है। निगरानी के लोग लिपिक को अपने साथ कहां ले गए इसकी भी जानकारी मुझे नहीं है। जिले के तिलौथू में डायग्नोस्टिक सेंटर खोलने के लिए डेहरी के जखी बीघा निवासी शाह मुस्लिम खान ने सिविल सर्जन कार्यालय में लाइसेंस के लिए गत 20 अक्टूबर को आवेदन किया था। लेकिन एक महीने बात भी लाइसेंस निर्गत नहीं किया गया। जिसके बाद शाह मुस्लिम खान ने सिविल सर्जन कार्यालय पहुंचकर लिपिक से गुहार लगाई। जिस पर लिपिक ने काम कराने के एवज में 20 हजार की फरमाइश कर दी। लेकिन डायग्नोस्टिक संचालक ने 20 हजार देने में असमर्थता व्यक्त करते हुए कुछ गुंजाइश करने की अपील की। उसके बाद 10 हजार रुपए पर लाइसेंस निर्गत करने की बात फाइनल की गई।

खबरें और भी हैं...