• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Sasaram
  • Devotees Reached The Courtyard Of Dibhiyan High School With Ganga Water From Buxar, The Whole Area Was Devotional With Vedic Mantras.

जलभरी यात्रा निकाल की गई कलश स्थापना:श्रद्धालु बक्सर से गंगा जल लेकर डिभियां हाई स्कूल के प्रांगण में पहुंचे, वैदिक मंत्रों से पूरा क्षेत्र भक्तिमय

सासाराम19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शारदीय नवरात्र के पहले दिन गुरूवार को शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में जगह-जगह कलश यात्रा निकाली गई। इसके उपरांत विधिवत पूजा अर्चना कर कलश स्थापना किया गया। इस कड़ी में श्री दुर्गा पूजा समिति करगहर द्वारा गाजे बाजे के साथ उत्साहपूर्ण कलश यात्रा निकाली गई। यात्रा में सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। जलभरी यात्रा डिभियां से शुरू होकर करगहर बजार स्थित पूजा पंडाल पहुंच कलश स्थापना की गई।

इससे पूर्व श्रद्धालु बक्सर से गंगा जल लेकर डिभियां हाई स्कूल के प्रांगण में पहुंचे थे। जहां से श्रद्धालु भक्तों ने गाजे बाजे के साथ जलभरी यात्रा निकाली। जलभरी में शामिल शाहाबाद के वरिष्ठ समाजसेवी विवेक कुमार पांडेय उर्फ सोनू पांडेय ने कहा कि करगहर दुर्गा पूजा समिति द्वारा प्रत्येक वर्ष श्रद्धा के साथ माता रानी की पूजा पाठ किया जाता है। कलश यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं के जय माता दी की जय घोष से पूरा क्षेत्र भक्तिमय हो गया।

समाजसेवी सोनू पांडेय ने कहा कि दुर्गा पूजा हिन्दुओं का एक प्रमुख त्यौहार माना जाता है। भगवान राम ने रावण को मारने से पहले देवी दुर्गा के आशीर्वाद के लिए उनकी पूजा-अर्चना की थी। इस अवसर पर देवी दुर्गा की नौ दिनों तक पूजा की जाती है।

वैदिक मंत्रों के साथ कलश का हुआ स्थापना

करगहर श्री दुर्गापूजा समिति के अध्यक्ष महावीर सोनी ने कहा कि वैदि्क मंत्रों के साथ मां दुर्गा पूजा पंडाल में कलश स्थापना किया गया। कलश स्थापना से पूर्व जलभरी के दौरान जय माता दी के जयघोष से गुंजता रहा। वैदि्क मंत्रों के उच्चारण से पूरा क्षेत्र भक्तिमय हो गया। अध्यक्ष ने बताया कि प्रति वर्ष श्रद्धा के साथ मां दुर्गे की पूजा प्रतिवर्ष धूमधाम से किया जाता है।

नौ दिन तक उपवास व्रत रख माता रानी की पूजा अर्चना किया जाता है। प्रतिदिन विद्धान पंडितों द्वारा मां दुर्गे की पाठ की जाती है। मौके पर पूजा समिति के कोषाध्यक्ष विजय केसरी, राजेश गुप्ता, सोहराब मिया, रवि कुशवाहा, सत्यम पांडेय, लालबाबू समेत करगहर व आस पास के सैकड़ों श्रद्धालु भक्त मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...