कार्रवाई:दिनारा की आंगनबाड़ी पर्यवेक्षिका का अनुबंध खत्म

सासाराम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सेविका बहाली में गड़बड़ी का आरोप, स्थानांतरण के बाद नए प्रखंड में योगदान नहीं दे रही थीं

आईसीडीएस विभाग की महिला पर्यवेक्षिकाओं का स्थानांतरण के बाद बाल विकास परियोजना कार्यालय दिनारा में कार्यरत महिला पर्यवेक्षिका प्रमिला कुमारी सिंह द्वारा स्थानांतरण के बाद नए प्रखंड में योगदान नहीं दिए जाने तथा फर्जी प्रमाण पत्रों के माध्यम से कई सेविका/सहायिका का चयन को लेकर पर्यवेक्षिका प्रमिला कुमारी सिंह को जिलाधिकारी ने अनुबंध मुक्त कर दिया है। इस संबंध में जानकारी देते हुए रोहतास आईसीडीएस की डीपीओ रश्मि रंजन ने विभागीय जानकारी देते हुए बताया कि विभाग के निर्देशानुसार रोहतास जिलाधिकारी के देखरेख में फरवरी माह में पत्रांक-306, दिनांक 25/02/2021 के द्वारा रोहतास जिला में कार्यरत सभी महिला पर्यवेक्षिकाओं का स्थानांतरण किया गया था। इस दौरान दिनारा प्रखंड में कार्यरत पर्यवेक्षिका प्रमिला कुमारी सिंह का स्थानांतरण बाल विकास परियोजना कार्यालय नौहट्टा किया गया था। लेकिन उसके बाद से लेकर अब तक प्रमिला कुमारी सिंह ने अपना योगदान नहीं दिया। इसको लेकर बाल विकास परियोजना पदाधिकारी नौहट्टा ने पत्रांक संख्या- 207, दिनांक 14/ 9/2021 के द्वारा प्रतिवेदित किया गया कि महिला पर्यवेक्षिका प्रमिला कुमारी सिंह द्वारा कार्यालय में योगदान नहीं किया गया है।

मनमानी: दो बार स्पष्टीकरण पूछा गया, पर जवाब देने की नहीं समझी जरूरत, पूर्व में लगते रहे हैं कई आरोप

इसके अलावा दिनारा प्रखंड के गंजभड़सरा स्थित चोरपोखर इंग्लिश अंतर्गत मेदनीपुर पंचायत में सेविका बहाली का रिक्त पद के लिए हुए चयन में गड़बड़ी को लेकर बाल विकास परियोजना पदाधिकारी दिनारा द्वारा पत्रांक 282, दिनांक 15/ 4/ 2019 एवं पत्रांक- 301 दिनांक 22/04/ 2019 से दो बार स्पष्टीकरण किया गया। किंतु पर्यवेक्षिका प्रमिला कुमारी सिंह के द्वारा कोई जवाब समर्पित नहीं किया गया। मामले को लेकर जिला पदाधिकारी रोहतास के द्वारा पत्रांक 920, दिनांक 26/08/2021 द्वारा आंगनवाड़ी केंद्र चोरपोखरी इंग्लिश वार्ड संख्या-11 सेविका/ सहायिका चयन से संबंधित संचिका कार्यालय में जमा नही करने के संबंध में कारण पूछा गया था। संबंधित पर्यवेक्षिका द्वारा समर्पित स्पष्टीकरण असंतोषजनक पाया गया। इसके अलावा कई अन्य सेविका/ सहायिका चयन में गड़बड़ी सहित कई मामलों को लेकर जिला पदाधिकारी धर्मेंद्र कुमार ने महिला पर्यवेक्षिका प्रमिला कुमारी सिंह को अनुबंध मुक्त कर दिया है।

खबरें और भी हैं...