वर्चुअल क्लास:वेबपोर्टल व एप्लीकेशन के माध्यम से सरकारी स्कूलों के बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई होगी सुनिश्चित, मिला निर्देश

सासाराम6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वेबपोर्टल व ऐप पर उपलब्ध है अध्ययन सामग्री, दो हजार से ज्यादा वीडियो क्लिप भी मौजूद

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण जिले के सभी सरकारी स्कूलों को 15 मई तक लिए बंद कर दिया गया है। ऐसे में बच्चों की पढ़ाई बाधित ना हो इसके लिए सरकार द्वारा ऑनलाइन पढ़ाई पर काफी जोर दिया जा रहा है। सरकार द्वारा डीईओ को निर्देश दिया गया है कि वेबपोर्टल व एप्लीकेशन के माध्यम से सरकारी स्कूलों के बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई हो सुनिश्चित करें। डीईओ संजीव कुमार ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश पर निजी स्कूलों के बच्चों की तरह सरकारी स्कूलों के छात्रों की पढ़ाई भी डिजिटल तरीके से जारी रहे इसके लिए प्रचार -प्रचार किया जा रहा हैं। उन्होंने बताया कि इसकी जिम्मेवारी विभागीय अधिकारी व कर्मियों के साथ शिक्षकों को भी दी गई है। उन्होंने बताया कि डिजिटल प्लेटफार्म पर सरकारी स्कूलों के बच्चों को पढ़ाने के लिए कई महत्वपूर्ण उपाय बताए हैं। कोरोना काल में एनसीईआरटी के द्वारा उपलब्ध डिजिटल रिसोर्सेज के माध्यम से बच्चों को पढ़ाने का निर्देश दिया गया है।

शिक्षकों के लिए भी ऑनलाइन पाठ्य सामग्री उपलब्ध
शिक्षकों के लिए भी ऑनलाइन पाठ्य सामग्री उपलब्ध कराया गया है। निष्ठा एप ऐसा ऐंड्रॉयड ऐप है जिस पर विद्यार्थी डाइट, डीएलएड संस्थाओं के शिक्षक और शिक्षक प्रशिक्षक सभी पाठ्यक्रम-मॉड्युलस्, विडियो-ऑडियो और अन्य चीजें किसी भी समय, कहीं भी, निःशुल्क ऑनलाइन देख सकते हैं। वहीं, स्वयं प्लेटफार्म पर स्नातक व स्नातकोत्तर के पाठ्यक्रम उपलब्ध होते हैं। इससे कोरोना काल की अवधि में बच्चों की पढ़ाई बाधित नही होगी।

ई-पाठशाला के पोर्टल पर हैं पढ़ाई के ढेरों संसाधन उपलब्ध
डीईओ ने बताया कि छात्रों के लिए डिजिटल अध्ययन के लिए प्रोत्साहित करने को कहा गया है। साथ ही, एनसीईआरटी द्वारा मुहैया कराए गए प्लेटफॉर्म के माध्यम से छात्र अपनी पढ़ाई को जारी रख सकते हैं। छात्रों को ई-पाठशाला से भी पढ़ाया जा सकता है। इस पोर्टल पर पहली से 12वीं कक्षा के बच्चों के लिए 1886 ऑडियो सामग्री, 2000 वीडियो क्लिप, 600 डिजिटल बुक व 377 ई-पुस्तकें उपलब्ध हैं। जिसका छात्र-छात्राओं के साथ-साथ शिक्षक भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं...