समानता का अधिकार:सभी महिलाओं को कानूनी हक दिलाना प्राधिकार की जिम्मेदारी

सासाराम21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

महिलाओं को समाज में समानता का अधिकार एवं उन्हें कानूनी हक दिलाना जिला विधिक सेवा प्राधिकार की प्राथमिकता एवं जिम्मेदारी है। जिसके लिए प्राधिकार प्रतिबद्ध है। उक्त बातें शनिवार को आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत नाल्सा एवं केन्द्रीय महिला आयोग के संयुक्त प्रयास द्वारा आयोजित ‘’महिलाओं के कानूनी अधिकार’’ विषय पर आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव अमित राज ने बताई। इस कार्यक्रम में अभियोजन पदाधिकारी वंदना कुमारी ने महिलाओं से जुड़ी समस्याओं जिनमें दहेज प्रताड़ना, एसिड अटैक, दुष्कर्म एवं विभिन्न प्रकार के शोषण से जुड़ी समस्याओं पर विचार व्यक्त करते हुए उन्हें विधिक सेवा प्राधिकार के माध्यम से समाधान करने पर प्रकाश डाला।

सुबह 11:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक ओझा टाउन हाल, सासाराम में आयोजित उक्त कार्यक्रम में प्राधिकार की पैनल अधिवक्ता सुष्मिता पाठक, संगीता श्रीवास्तव के अलावा अधिवक्ता धीरज कुमार सिंह, विकास कुमार ने भी महिला सशक्तीकरण एवं उनसे संबंधित कानूनों की जानकारी दी। उक्त कार्यक्रम में प्राधिकार के राजीव कुमार, प्रभात कुमार सहित जिले के विभिन्न क्षेत्रों एवं संगठन से जुड़ी महिलाएं, आंगनवाड़ी सेविका, आशा कार्यकर्ता ,शिक्षिका एवं अन्य सैकड़ों प्रतिभागी एवं श्रोता शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...