पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हादसा:बारिश से कच्ची सड़क पर फिसल कर पलटी जीप, मां-बेटे की मौत

सासाराम10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहाड़ी के ऊपर के गांव चानो से यात्रियों को रोहतास ले जा रही थी गाड़ी

नौहट्‌टा प्रखंड में कैमूर पहाड़ी के ऊपर बुधवार की रात हुई वर्षा के बाद सुबह यात्रियों से खचाखच भरी कमांडर जीप फिसलन भरी कच्ची रास्ते पर इस कदर असंतुलित हुआ कि उसके पलटने से 27 वर्षीय महिला रूना देवी व और उसके चार वर्षीय पुत्र बिक्रम उरांव की नीचे दबकर मौके पर मौत हो गई। घटना गुरूवार सुबह आठ बजे की है। जब कैमूर पहाड़ी के ऊपर कुबा गांव से रोहतास के लिए चली कमांडर जीप चानोडीह गांव में सवारियों को लेने जा रही थी।

बीच रास्ते में जाेन्ह गांव के समीप तेज गति से जा रही कमांडर जीप का नियंत्रण अचानक चालक के हाथों से बाहर निकला, गाड़ी असंतुलित हुई और सीधे पलट गई। जिसके नीचे दबे रूना और उसके बेटे बिक्रम की मौत हो गई। जबकि शांति देवी, सोनिया देवी, मनीषा देवी, संजय उरांव घायल हो गए। रूना मानू निवासी सुरेंद्र उरांव की पत्नी थी। जिसकी गोद में उसका चार वर्षीय बेटा बैठा हुआ था। घटना की जानकारी मिलने के बाद नौहट्‌टा थानाध्यक्ष संजय वर्मा और पुलिस पहुंची।

कच्चे रास्ते पर बरसात का पानी बना हादसे की वजह, तेज थी जीप की गति
ग्रामीणों ने बताया कि रात में कैमूर पहाड़ी के ऊपर वर्षा हुई थी। कुबा से रोहतास जाने के लिए वाया चानो का रास्ता अभी भी कच्ची सड़क है। जिस सड़क की मिट्टी वर्षा होने के कारण काफी गिली थी। जिस पर दौड़ रहे कमांडर जीप कई बार फिसलकर इधर उधर हुआ भी। फिर भी रोहतास बाजार पहुंचने की फिक्र में और ज्यादा सवारियों को बैठाने की लालच में चालक गाड़ी की रफ्तार थोड़ा बढ़ा दिया। जैसे ही जोन्ह गांव के समीप पहुंचा तो सड़क पर जमा पानी और उस पर मौजूद फिसल समझ नहीं पाया जिससे यह घटना घट गई।

वन क्षेत्र में नहीं है कोई पक्की सड़क
कैमूर पहाड़ी के ऊपर वन क्षेत्र में कोई भी पक्की सड़क नहीं है। जिससे होकर बरसात के दिनों में भी गाड़ियां गुजर सके और लोग इलाज सहित अन्य कामों के लिए रोहतास या आस पास के बाजारों तक पहुंचे। वन अधिनियम के नियमों के कारण सिर्फ मोरम और मिट्टी मिश्रित पत्थर के छोटे टुकड़ों से ही सड़कों का निर्माण हुआ है। जिस पर बरसात के दिनों में वाहनों का चलना कठिन हो जाता है। यहां तक ही इस इलाके की सबसे महत्वपूर्ण अकबरपुर अधौरा पथ का निर्माण भी इन्हीं कारणों से रूका है। जो सीधे उत्तरप्रदेश के सोनभद्र जिला को जोड़ता है।

इलाज कराने जा रही थी
कमांडर जीप में बायीं तरफ बीच के सीट पर बैठी रूना देवी और उसका चार वर्षीय पुत्र बिक्रम उरांव गाड़ी पलटने के बाद उसके नीचे दब गए। जिसके कारण उनकी मौत हुई। बताया गया है कि रूना देवी के गर्भ में चार महीने का बच्चा भी पल रहा था। जो रोहतास में इलाज कराने और कुछ खरीदारी के लिए जा रही थी। बेटा बिक्रम मां की गोद में था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें