परीक्ष:लॉकडाउन असर : अब बिना पढ़े ही सभी विद्यार्थियों को देनी पड़ेगी सेंटअप परीक्षा

सासारामएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • नियमित पंजीकृत छात्रों की सेंटअप परीक्षा 11 से 17 नवंबर तक होम सेंटर पर ही आयोजित की जाएगी

मैट्रिक के स्वतंत्र एवं नियमित पंजीकृत छात्रों का सेंटअप एक्जाम 11 से 17 नवंबर तक होम सेंटर पर हीं आयोजित की जाएगी। सेंटअप के छात्रों का प्रैक्टिकल 18 एवं 19 नवंबर को होगा। हालांकि, सेंटअप परीक्षा को लेकर जिले भर के छात्र काफी टेंशन में हैं। उनका कहना है कि बोर्ड द्वारा तो सेंटअप परीक्षा की तिथि घोषित कर दी गई है लेकिन इस बारें में जरा भी विचार नहीं किया गया कि जब छात्र लॉकडाउन के कारण विगत छह माह से पढ़ाई किए हीं नहीं तो वे परीक्षा में क्या लिखेंगे।

ऑनलाइन पढ़ाई के नाम पर सिर्फ औपचारिकताएं पूरी की गई। कुछेक स्कूलों में ऑनलाइन क्लास शुरू भी हुआ ताे वहां पढ़ने वाले विद्यार्थी एंड्राॅयड फाेन, कंप्यूटर या लैपटाॅप नहीं हाेने की वजह से इसमें शामिल नहीं हाे पाए। अब जब स्कूलाें काे 9वीं से 12वीं तक की कक्षा चलाने की अनुमति मिली है, ताे भी कक्षाएं शुरू नहीं हाे पाई हैं। छात्र-छात्राओं काे इसी बात का डर है कि बिना क्लास किए परीक्षा में क्या लिखेंगे।सरकार की मनमानी रवैये को लेकर छात्रों में खासा आक्रोश है। कहा कि सरकार को सिर्फ चुनाव में मतलब है उन्हें छात्रों के भविष्य से कुछ लेना देना नहीं है।

सेंटअप के छात्रों की प्रैक्टिकल 18 व 19 नवंबर को होगा, 6 तक सभी स्कूलों में सेंटअप परीक्षा के प्रश्न पत्र एवं उत्तर पत्र पहुंच जाएं ताकि आगामी 11 से स्कूलों में परीक्षा हो सके

18 एवं 19 नवंबर को होगी प्रायोगिक परीक्षाएं
बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने सेंटअप परीक्षा का प्रश्न पत्र एवं कॉपी सभी स्कूलों को भेजना शुरू कर दिया है। रोहतास के स्कूलों में भी जल्द ही परीक्षा से जुड़े सामग्री पहुंचने की संभावना है। सामग्री भेजने के साथ हीं बोर्ड ने यह सुनिश्चित करना शुरू कर दिया है कि छह नवंबर तक सभी स्कूलों में सेंटअप परीक्षा के प्रश्न पत्र एवं उत्तर पत्र पहुंच जाएं ताकि आगामी 11 नवंबर से स्कूलों में सेंटअप परीक्षा हो सके। सेंटअप परीक्षा 17 नवंबर तक चलेगी। उसके बाद 18 एवं 19 नवंबर को प्रायोगिक परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के सचिव ने डीईओ को भेजे पत्र में कहा कि यह सुनिश्चित करें कि सभी विद्यालयों में निर्धारित समय पर दसवीं की परीक्षाएं संपन्न हो जाएं। तब तक चुनाव कार्य भी संपन्न हो जाएंगे।

सेंटअप परीक्षा की तैयारी को ले स्कूलों को दिए गए हैं निर्देश
डीईओ संजीव कुमार ने बताया कि सभी स्कूलों में सेंटअप परीक्षा के लिए व्यवस्था पूरी तरह चाक चौबंद करने का निर्देश दिया है। परीक्षा बोर्ड की ओर से निर्धारित तिथि तक जिला मुख्यालय में परीक्षा का प्रश्न पत्र प्राप्त करके गोपनीयता की पूरी व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है। परीक्षा पूरी तरह कदाचार मुक्त हो सके इसके लिए भी पहले से ही तैयारी करने का आदेश मिला है। इससे सभी हाईस्कूलों के प्रधानाध्यापकों को अवगत करा दिया गया है। परीक्षा पूर्व निरीक्षण कर सभी स्कूलों के विधि-व्यवस्था की जांच की जाएगी।

सभी परीक्षार्थियों को सेंटअप परीक्षा देना अनिवार्य

बिहार बोर्ड ने सभी परीक्षार्थियों के लिए सेंटअप परीक्षा देना अनिवार्य कर दिया है। जो परीक्षार्थी सेंटअप परीक्षा में शामिल नहीं होंगे, उन्हें मुख्य परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं प्रदान की जाएगी। सेंटअप परीक्षा का रिजल्ट प्रत्येक स्कूल के प्राचार्य को परीक्षा समिति को देना होगा। डीईओ ने बताया कि सेंटअप परीक्षा में फेल होने वाले परीक्षार्थी दसवीं की मुख्य परीक्षा में शामिल नहीं होंगे। सेंटअप परीक्षा के बाद दसवीं के विद्यार्थी रीविजन शुरू कर देंगे। दसवीं की मुख्य परीक्षा अगले वर्ष होगी। उसकी भी तैयारी बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...