पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही हो सकती है जानलेवा:सुबह 7 से 11 बजे तक लॉकडाउन फेल, बाजारों में उमड़ी तीन गुनी भीड़

सासाराम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धर्मशाला रोड में लगी लोगों की भीड़ प्रशासन की निष्क्रियता को बयां कर रही। - Dainik Bhaskar
धर्मशाला रोड में लगी लोगों की भीड़ प्रशासन की निष्क्रियता को बयां कर रही।

पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी सड़क एवं बाजारों में नहीं होने के कारण लॉकडाउन के दूसरे दिन गुरुवार को भी जमकर सुरक्षा नियमों की धज्जियां उड़ाई गई। सुबह 7 बजे से दोपहर 11 बजे तक सासाराम में कहीं पर भी नहीं लॉकडाउन का असर दिखा। प्रशासन 11 बजे के बाद ही नजर आता है। इस दौरान बाजारों में तीन गुनी भीड़ देखी गई। जो दुकानें वर्जित हैं वे भी खुलीं। पहले की तरह लगभग सभी दुकानें खुलीं। लोग भी बिना मास्क के हीं समान खरीदने पहुंच गए। धर्मशाला रोड, चौखण्डी, चौक बाजार, नवरतन बाजार, बौलिया, गौरक्षणी, शेरगंज, आलमगंज सहित सासाराम के अन्य बाजार में उमड़ी जबरदस्त भीड़ में कोरोना की खूब बोली लगी। बाजारों में भीड़ इस कदर था कि लोगों को पैदल चलना भी दूभर हो रहा था।

न शारीरिक दूरी का पालन दिखा और न कोविड नियमों का। ऐसे में संक्रमण का चेन लंबा होने की संभावना दिख रही है। गुरुवार की दोपहर तक बाजार में न शासन दिखा ना प्रशासन। दिखी तो सिर्फ लोगों की भी जबरदस्त भीड़। इस भीड़ में ज्यादातर लोग मास्क भी नहीं लगाए रखे थे। शहर के चौक बाजार से लेकर धर्मशाला रोड तक यही स्थिति रही। सब्जी मंडी सहित अन्य बाजारों की हालत तो और भी दयनीय रहा। दुकानदारों की मानें तो एक सप्ताह में इस तरह की भीड़ नहीं हुई थी। यह स्थिति लोगों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से शुभ नहीं है। अगर इस तरह होगी लापरवाही तो संक्रमण पर नियंत्रण संभव नहीं है।

प्रशासन की निष्क्रियता का फायदा उठा रहे लोग
लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने को लेकर पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी बिल्कुल भी गंभीर नहीं हैं। इनकी निष्क्रियता का फायदा दुकानदार एवं वाहन चालक से लेकर आमलोग तक खूब उठा रहे हैं। लॉकडाउन को लेकर डीएम धर्मेंद्र कुमार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन उनके हीं अफसर नहीं करवा पा रहे हैं। कलेक्ट्रेट के सामने ही ठेला वालों ने 12 बजे तक सब्जी बेची।

खबरें और भी हैं...