आस्था:ताराचंडी धाम पर पूजा के लिए उमड़ा जनसैलाब

सासाराम12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मां ताराचंडी के दर्शन करते डीएम। - Dainik Bhaskar
मां ताराचंडी के दर्शन करते डीएम।
  • मां ताराचंडी के जयकारे से गुंजायमान होती रहीं कैमूर पहाड़ी की सुरम्य वादियां

भक्ति व आराधना के बीच गुरुवार से शारदीय नवरात्र प्रारंभ हो गया। कैमूर तराई स्थित शक्तिपीठ मां ताराचंडी धाम पर शारदीय नवरात्र के प्रथम दिन श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ा। हजारों की संख्या में पहुंचे पुरूष व महिला श्रद्धालुओं ने मां ताराचंडी की पूजा-अर्चना कर सुखमय जीवन की कामना की। पहले दिन प्रसिद्ध शक्तिपीठ मां ताराचंडी धाम के अलावे शहर के अन्य देवी मंदिरों में भी श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। डीएम धर्मेंद्र कुमार, सासाराम एसडीएम मनोज कुमार सहित अन्य अधिकारियों ने ताराचंडी धाम पहुंचकर माता रानी का आशीर्वाद लिया। हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने मां के दरबार में हाजिरी लगाई। कैमूर पहाड़ी की प्राकृतिक गुफा में अवस्थित मां के धाम पर मां की पूजा-अर्चना के लिए अलसुबह से ही भक्तों की कतार लग गई थी।

मां ताराचंडी की जयघोष से कैमूर पहाड़ी की सुरम्य वादियां गुंजायमान होती रही। विभिन्न स्थानों से पहुंचे भक्तों ने हाथों में नारियल, चुनरी आदि प्रसाद लिए कतार में घंटों खड़े रह कर मां का दर्शन किया। मां के दरबार में सच्चे मन से मन्नत मांगने वाले भक्तों की मुराद अवश्य पूरी होती है। नवरात्र में यहां सैकड़ों भक्त मन्नत पूरी होने पर अखंड दीप जला रहे हैं। जो यहां आकर्षण के केंद्र बने हुए हैं। ताराचंडी धाम नवरात्रि के पहले ही दिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु धाम पहुंच माता का आशीर्वाद लिए।

ज्ञात हो कि मंदिर परिसर में स्थापित दीप घर भी लोगों के आकर्षण का केंद्र रहता है। जहां दूर-दराज से आये लोग नवरात्र और अन्य विशेष अवसरों पर अखंड दीप जला अपनी मन्नत पूरी होने पर माता रानी का श्रृंगार कराते हैं। ऐसी मान्यता है कि अखंड दीप नवरात्रि में नौ दिन तक जलाने पर इच्छित मनोरथ पूर्ण होती है। ताराचंडी धाम कमिटी के संरक्षक पूर्व विधायक जवाहर प्रसाद एवं महामंत्री महेंद्र साहू ने बताया कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए कमेटी के लोग 24 घंटे अपनी सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं।

आकर्षक ढंग से सजा माता रानी का दरबार
नवरात्र को ले ताराचंडी धाम कमेटी द्वारा मंदिर को आकर्षक ढंग से सजाया गया है। मंदिर परिसर की साफ-सफाई व रात्रि में ठहरने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। मंदिर को बिजली के रंगीन झालरों से सजाया गया है। जिसकी दिव्य छटा देखते हीं बन रही है। ताराचंडी धाम की दिव्य छटा को देख एन-एच टू से गुजरने वाले लोगों से कदम बरबस हीं ठहर जा रहे हैं। मंदिर परिसर व बाहर में रंग-बिरंगी चुनरी व श्रृंगार के सामान की दुकानें भी सज गई हैं।शारदीय नवरात्र को लेकर धाम पर लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं।

जिनकी सुरक्षा के लिए प्रशासन एवं पूजा कमिटी द्वारा व्यापक प्रबंध किये गए हैं। पूजा कमिटी के दर्जर्नों स्वंयसेवक जगह-जगह तैनात हैं। जो श्रद्धालुओं को किसी तरह दिक्कत न हो इसके लिए हमेशा तत्पर रहते हैं। धाम परिसर में लगाये गये सीसीटीवी कैमरे से धाम पर आने-जाने वाले लोगों पर पैनी नजर रखी जा रही है। धाम परिसर में श्रद्धालुओं के लिए कमिटी के द्वारा पेयजल की भी व्यवस्था की गई है। विश्राम के लिए विश्रामगृह भी बनाया गया है।

खबरें और भी हैं...