पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीकाकरण अभियान:दूर की जाएंगी वैक्सीनेशन के प्रति गलतफहमियां

सासाराम22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • यूनिसेफ, केयर और डब्ल्यूएचओ के संयुक्त अभियान में दी जाएगी टीकाकरण के फायदे की जानकारी

जिले में कोरोना संक्रमण के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान को वृहद किया गया है। टीकाकरण के लिए स्थायी शिविरों के साथ साथ पंचायतों में टीका एक्सप्रेस भी चलाया जा रहा है। जिससे अधिक से अधिक लोगों को समय से पूर्व टीकाकृत किया जा सके। लेकिन, ग्रामीण स्तरों में अभी भी कई समस्याएं सामने आ रही है। जैसे लोग अफवाहों व भ्रांतियों के चक्कर में पड़ कर लाभार्थी टीके का दूसरा डोज लेने नहीं जा रहे हैं।

इन सब समस्याओं से निपटने के लिए सरकार ने नई रणनीति बनाई है। ग्रामीण इलाक़ों में व्याप्त भ्रांतियों व अफवाहों को दूर करने के लिए व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए राज्य स्वास्थ्य समिति के अपर कार्यपालक निदेशक अभिषेक कुमार पराशर ने सिविल सर्जन, यूनिसेफ, केयर व विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) को पत्र भेजा है। जिसमें कार्यपालक निदेशक ने अभियान को सफल बनाने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए है।

जागरुकता अभियान में सहयोगी संस्थानों द्वारा सहयोग किया जाएगा

जारी पत्र में अपर कार्यपालक निदेशक ने कहा है कि कोविड-19 के वैक्सीनेशन अभियान में दूसरे डोज का टर्नआउट अपेक्षानुरूप नहीं है। इसके लिए विभिन्न स्तर पर इसके अनुश्रवण के साथ-साथ स्थानीय स्तर पर लाभार्थियों को जागरूक करने और उनमें वैक्सीनेशन के प्रति व्याप्त भ्रांतियों को दूर करते हुए टीके के आच्छादन को सुदृढ़ किया जाना आवश्यक है। इस अभियान में सहयोगी संस्थानों के द्वारा सहयोग किया जाएगा। साथ ही, स्थानीय स्तर पर संस्था के कर्मियों द्वारा उत्प्रेरकों (आशा/आंगनबाड़ी, पंचायत सदस्य आदि) व जनप्रतिनिधियों के माध्यम से व्याप्त भ्रांतियों को दूर करते हुए उनका टीकाकरण कराने में आवश्यक सहयोग उपलब्ध कराया जाए।

टीका को लेकर अब भी लोगों के मन में सवाल, अफवाह दूर करना जरूरी

डीएम धर्मेन्द्र कुमार ने बताया कि ग्रामीण इलाक़ों में टीकाकरण केंद्रों पर स्वास्थ्यकर्मियों के जाने के दौरान इस बात की अनुभूति होती है कि जानकारी के अभाव में टीका को लेकर अब भी लोगों के मन में कई सवाल अभी भी मौजूद है। इन भ्रांतियों व अफवाहों को दूर करना आवश्यक है। जिससे टीकाकरण कार्य में तेज़ी आ सके। उन्होंने बताया, जिले में वैक्सीनेशन को सफल बनाने में स्वास्थ्य विभाग, आरबीएसके, आईसीडीएस व अन्य विभाग संयुक्त रूप से लगे हुए हैं। लेकिन, जिलेवासियों को भी अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। जिससे टीका लेकर स्वयं के साथ साथ अपने परिवार व समाज को संक्रमण की संभावना से मुक्त कर सकें।

खबरें और भी हैं...