पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पंचायती में खून-खराबा:पंचायती करने गए भतीजे ने चाचा को मार डाला, भीड़ ने आरोपी की ली जान

सासारामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्राद्ध में मिले दक्षिणा के 15 हजार रुपए के बंटवारे में गई दो लोगों की जान, एक की हालत गंभीर

सासाराम के लश्करीगंज में शुक्रवार देर रात घटी दोहरे हत्या कांड में चाचा भतीजे माधव दूबे और गोपाल दूबे की हत्या श्राद्ध के दक्षिणा में मिले 15 हजार रुपए का बंटवारा कारण बना। जिसमें पंचायत करने गए माधव दूबे व उसके भाई पहले अपने चाचा गोपाल को गोली मारकर मौत की नींद सुला दी। उसके बाद तनाव इतना बढ़ा की वहां मौजूद भीड़ माधव और उसके भाई जितेंद्र पर टूट पड़े। जिसमें माधव को ईट पत्थर से कुचलकर मारने के बाद उसे गोली मार मौत की नींद सुला दी। चली गोलियों में से एक गोली माधव के भाई जितेंद्र के कंधे को छूते हुए निकली।

उसे भी भीड़ ने बुरी तरह पीटा था। जिसका इलाज वाराणसी ट्रामा सेंटर में चल रहा है। जहां स्थिति गंभीर बनी हुई है। पूरा घटना क्रम यजमानों से मिलने वाले दक्षिणा को लेकर घटा। जिसका तनाव पिछले कई महीनों से चला आ रहा था। शुक्रवार को गोपाल दूबे श्रार्द्ध से पहले होने वाले दशगात्र का अनुष्ठान करा लौटे थे। जिसमें मिले रूपयों के बंटवारा को लेकर मुहल्ले के शिवमंदिर पर पंचायत बैठी। बात-बात में स्थिति तनावपूर्ण हो गई। उसके बाद चाचा व भतीजे की हत्या हुई। घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष कामख्या नारायण सिंह सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी ने दोनों शवों को कब्जे में लिया। फिर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू की गई।
सासाराम के लश्करीगंज की घटना, पिछले कई महीनों से चला आ रहा था दो गुटों में तनाव, बुलाई गई थी पंचायत

घर में से खींचकर गोपाल को मारी गई गोली
गोपाल दूबे के परिजनों ने आरोप लगाया कि दशगात्र के अनुष्ठान से लौटने के बाद माधव दूबे उनके उपर मिली हुई दक्षिणा के बंटवारे के लिए दबाव बनाना शुरू किया। कहा सुनी हुई फिर मुहल्ले के लोग शिवमंदिर ले जाकर पंचायत शुरू किए। बात-बात में जब गोली चली तो भागकर गोपाल दूबे अपने घर आ गए। जहां से खिंचकर माधव और उसके भाई उन्हें मंदिर के पास ले गए। फिर मारपीट करने लगे। अंत में दो गोलियां गोपाल दूबे के पेट में दाग दी। जिससे उनकी मौके पर मौत हो गई।

दक्षिणा में मिली जमीन को लेकर था विवाद, होती रहती थी मारपीट
श्रार्द्ध से पहले दशगात्र के अनुष्ठान में कुछ वर्ष पहले दक्षीणा में मिले एक जमीन के टुकड़े को लेकर भी विवाद चला आ रहा था। उस विवाद को लेकर लगभग हर महीनें मारपीट हो जाती थी। जिसको मुहल्ले के लोग हल्के में लिया करते थे। परंतु शुक्रवार की रात जब गोपाल दूबे की हत्या हुई तो पंचायत के समय ही माधव दूबे और उनके लोग हरवे हथियार से लैश होकर पंचायत स्थल पर पहुंचे थे। जहां छोटे से विवाद में अचानक पांच छह चक्र गोलियां चली। जिसमें पहले गोपाल दूबे की मौत हुई। फिर माधव दूबे की भी हत्या हाे गई। घटना में माधव दूबे का भाई जितेंद्र घायल हुआ।
दूसरे के यजमानों की भी गोपाल दूबे ने करा ली थी रजिस्ट्री
पड़ोसियों की मानें तो लश्करी गंज के गोपाल दूबे श्रार्द्ध पूर्व दशगात्र अनुष्ठान के अच्छे कर्मकांडी थे। जिनके जीविका का साधन यहीं अनुष्ठान था। इसमें परांगत होने के कारण उन्होंने अपने परिवार के कई लोगों के यजमानों का बजाप्ता कोर्ट में रजिस्ट्री भी करा लिया था। जिससे मिले दक्षिणा से अच्छी खासी कमाई थी। यही आमदनी उनके पड़ोसियों व आस पास के लोगों के साथ विवाद का कारण बनी। जिसमें उनकी हत्या हो गई। शुक्रवार को भी सासाराम में ही आयोजित दशगात्र अनुष्ठान में दक्षिणा स्वरूप मिले 15 हजार रूपए लेकर लौटे थे। जिसको लेकर विवाद पराकाष्ठा पर पहुंची।

पुलिस पर हमले का भी आरोपी है जितेंद्र

माधव का भाई जितेंद्र गत वर्ष सासाराम टाउन थाना क्षेत्र के अड्‌डा रोड में पुलिस टीम पर फायरिंग कर भाग गया था। जिस मामले में स्थानीय पुलिस उसे तलाश रही थी। जितेंद्र पर लगभग एक दर्जन मामले पहले से दर्ज हैं। जबकि माधव दूबे भी दर्जन भर से ज्यादा मामलों में आरोपी था। कई बार जेल जा चुके दोनों भाई मुहल्ले के भी दबंग थे। जिसके कारण शुक्रवार को दक्षिणा में मिले रूपयों के लिए जबरन पंचायत करने पहुंचे थे। जो गोपाल दूबे के साथ उनके दूसरे भतीजे का विवाद था।

छह आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

रोहतास एसपी के नेतृत्व में पुलिस द्वारा त्वरित कारवाई करते हुए दोनों मृतकों के पक्ष से तीन-तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। रोहतास एसपी ने बताया की मामले में घटना स्थल के पास से पुलिस को 3 खोखा बरामद किया गया है। शेष बचे अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है। मृतक माधव दूबे के पक्ष से श्री राम दूबे, पिंटू दूबे, जितेन्द्र दूबे तीनों के पिता राजवंश दूबे, व मृतक गोपाल दूबे के पक्ष से अजय दूबे, चंदन दूबे एवं राम भजन दूबे (पिता स्व गोपाल दूबे) को गिरफ्तार किया गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें