पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑनलाइन टैक्स:इनकम टैक्स भरने के लिए आज से नई वेबसाइट

सासाराम/ बिक्रमगंज8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आयकरदाताओं की सुविधा के लिए जल्द ही मोबाइल एप भी लॉन्च किया जाएगा

कोरोना काल में अब धीर-धीरे सबकुछ ऑनलाइन होता जा रहा है, तो आयकर विभाग क्यों पीछे रहे? इनकम टैक्स डिपार्टमेंट भी एक नई तरह की शुरुआत करने जा रहा है। 7 जून से अब नया वेबसाइट काम करेगा। इसके बाद स्मार्टफोन मोबाइल भी लॉन्च किया जाएगा।

हालांकि पिछले साल हीं आयकर विभाग ने संगठनात्मक बदलाव किए थे। अब आयकर विभाग आयकरदाताओं के लिए 7 जून से एक नया पोर्टल लॉन्च करने जा रहा है। ताकि, आयकरदाता अपना आईटीआर मोबाइल फोन से भी कर सकें। पोर्टल का नामकरण ई-फाईलिंग 2.0 किया गया है। इसके साथ, पुराने पोर्टल के जरिए अब ई-फाईलिंग नहीं हो पाएगी, क्योंकि उसके बाद इसे बंद कर दिया जाएगा। इस पोर्टल में आप देखेंगे कि आपका आईटीआर पहले से ही भरा गया है, इस तरह की कई दूसरी सुविधाएं भी मिलेंगी। ज्ञात हो कि आयकर विभाग ने गत वर्ष ही अपने सांगठनिक ढांचे में व्यापक फेरबदल करते हुए फेस इंटरैक्शन को लगभग समाप्त कर दिया था।

आयकर विभाग के नई वेबसाइट में होंगे ये खास फीचर

आयकर विभाग की नई वेबसाइट अधिक यूजर फ्रेंडली होगी, जिससे आईटीआर फाइल करने में आसानी होगी और रिफंड भी जल्दी मिलेगा। सभी ट्रांजेक्शन, अपलोड और पेंडिंग एक्शन एक ही डैशबोर्ड पर दिखेंगे, ताकि यूजर उसे रिव्यू कर सकें और जरूरत के हिसाब से एक्शन ले सकें। यानी इससे आईटीआर फाइल करना, उसे रिव्यू करना और कोई एक्शन लेना आसान हो जाएगा। ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही स्थितियों के लिए आईटीआर के लिए तैयारी करने का सॉफ्टवेयर मुफ्त में उपलब्ध है। इसमें करदाताओं को असिस्ट करने की सुविधा भी होगी और प्री-फाइलिंग का विकल्प भी मिलेगा।

विभाग को गड़बड़ी की आशंका हुई, तो आपसे डाक्यूमेंट मांगा जा सकता है

इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए आपको सबसे पहले http://incometax.gov.in पर जाना होगा। यह नई वेबसाइट का लिंक है, जबकि इससे पहले http://incometaxindiaefilling.gov.in पर चल रहा था। इस पुराने वेबसाइट से रिटर्न फाइल करने की सुविधा छह जून से समाप्त हो गई है। यानी आप सात जून के बाद ही नए पोर्टल पर इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर सकेंगे। अब तक यदि आप अब तक किसी आयकर सेवा प्रदाता या सर्विस प्रोवाइडर पर निर्भर थे, तो इससे छुटकारा मिल सकता है। आप जो भी आंकड़े भरें, वह सही हों, इस बात का ध्यान रखें। विभाग को गड़बड़ी की आशंका हुई, तो डाक्यूमेंट मांगा जा सकता है।

खबरें और भी हैं...