पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंचायत चुनाव:सबसे पहले दावथ व संझौली में कराया जाएगा पंचायत चुनाव, करगहर और राजपुर में अंत में

सासारामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिप सदस्य, मुखिया, बीडीसी व वार्ड सदस्य का चुनाव ईवीएम से, पंच व सरपंच के लिए बैलेट पेपर

दस चरणों में होने वाले पंचायत चुनाव की तैयारी में जिला प्रशासन जुट गया है। चुनाव द्वारा जिला प्रशासन को भेजे गए पत्र के मुताबिक सबसे पहले दावथ एवं संझौली प्रखंड एवं सबसे अंतिम में करगहर एवं राजपुर में त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों के लिए वोट डाले जाएंगे। कुल छह पदों के लिए प्रत्येक चरण में दो-दो प्रखंडों में चुनाव होंगे। सिर्फ तीसरे चरण में केवल एक प्रखंड काराकाट में चुनाव होगा। 229 पंचायतों में होने वाले चुनाव के लिए 3180 मतदान केन्द्र बनाए जाएंगे। विभागीय सूत्रों के मुताबिक 3 अगस्त से चुनाव की प्रकिया शुरू होने की संभावना है।

अभी तक चुनाव तिथि को लेकर आयोग द्वारा आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। पहले चरण में सबसे कम 216 एवं दसवें चरण में सबसे अधिक 389 केन्द्रों पर वोट डाले जाएंगे। इलेक्ट्रानिक्स काॅरपोरेशन आफ इंडिया लिमिटेड द्वारा ईवीएम मुहैया करायी जा रही है।

चुनाव के लिए हैदराबाद से लाई जा रही हैं 10,955 ईवीएम

जिला पंचायत राज पदाधिकारी अमरेन्द्र कुमार ने बताया कि पंचायत चुनाव को संपन्न कराए जाने के लिए प्रशासनिक स्तर पर लगभग सभी तैयारियां करी कर ली गई है। उन्होंने बताया कि पंचायत चुनाव के लिए हैदराबाद से 5414 बैलेट यूनिट एवं 5541 ईवीएम कंट्रोल यूनिट के आ रहा है। चुनाव के लिए कुल 10 हजार 995 इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन प्रयोग किए जाएंगे।

जिला पंचायती राज पदाधिकारी अमरेंद्र कुमार ने कहा कि कोरोना को ध्यान में रखते हुए बचाव के लिए सरकार के दिशा निर्देशों का सख्ती से अनुपालन करते हुए चुनाव संपन्न कराया जाएगा। चुनाव ड्यूटी के लिए नामित कर्मचारियों को कोरोना का टीका लगवाना अनिवार्य होगा।

लंबी होगी प्रक्रिया... 10 चरणों में होने वाले चुनाव की तैयारी में जुटा प्रशासन

त्रिस्तरीय पंचायत का चुनाव ईवीएम और बेलेट पेपर दोनों से ही कराया जाएगा। पंचायत के कुल छह पद है। इसमें चार पदों पर का चुनाव ईवीएम और दो पदों का चुनाव बैलेट पेपर से कराया जाएगा। जिला परिषद्, मुखिया, पंचायत समिति एवं पंचायत सदस्य का चुनाव ईवीएम से कराए जाएंगे सरपंच व पंच के चुनाव बैलेट पेपर से ही कराए जाएंगे। चुनाव की सुगबुगाहट को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में सियासी हलचल बढ़ने लगी है। प्रत्याशी पंचायतों में जनसंपर्क करना भी शुरू कर दिए हैं।

पंचायत चुनाव के दौरान कोई भी अभ्यर्थी एक पद से अधिक पर चुनाव लड़ सकता है। इसके लिए उनको अलग अलग पात्र के लिए अलग अलग नामांकन प्रपत्र दाखिल करना होगा। जिसका नाजिर रसीद भी अग-अलग कटानी होगी। सूत्रों की मानें तो एक 11 से 12 दिन का समय प्रत्याशियों को अपना चुनाव प्रचार करने के लिए मिल सकेगा। मतदान के दूसरे दिन इस बार मतगणना की व्यवस्था की जाएगी। गौरतलब है कि बिहार में पहले ईवीएम की तकरार फिर कोरोना के मामले बढ़ने पर पंचायत चुनाव समय पर नहीं हो सका।

परामर्शी समिति के माध्यम से फिलहाल पंचायती कामकाज संपन्न कराया जा रहा है। अब जबकि राज्य में संक्रमण का मामला कम हुआ है, ऐसे में राज्‍य निर्वाचन आयोग द्वारा पंचायत चुनाव कराए जाने को लेकर प्रयास तेज कर दिए गए हैं। बताया जा रहा है कि निर्वाचन आयोग द्वारा जल्द ही तारीखों और चरणों की फाइनल प्लानिंग कर सरकार को चुनाव कराए जाने से संबंधित रिपोर्ट दे दी जाएगी।

229 पंचायतों में होने वाले चुनाव के दौरान कुल 10 हजार 955 ईवीएम इस्तेमाल होंगे। पंचायत चुनाव के लिए हैदराबाद से 5414 बैलेट यूनिट एवं 5541 ईवीएम कंट्रोल यूनिट के आ रहा है। उन्होंने बताया कि पंचायत चुनाव के आवश्यक तैयारियों को लगभग पूरा कर लिया गया है। आयोग के इस निर्देशानुसार मतगणना केंद्र पर वीडियोग्राफी की व्यवस्था की जानी है। मतगणना के दौरान सभी ईवीएम के कंट्रोल यूनिट की वीडियोग्राफी कराई जाएगी।

हो रही तैयारी

जिले में 3180 मतदान केन्द्रों पर पड़ेंगे वोट पहला चरण- दावथ (132 बूथ) एवं संझौली (84 बूथ) दूसरा चरण- रोहतास (98 बूथ) एवं नौहट्टा (123 बूथ) तीसरा चरण- काराकाट (270 बूथ) चौथा चरण- सासाराम (135 बूथ) एवं तिलौथू (148 बूथ) पांचवां चरण- बिक्रमगंज (167 बूथ) एवं अकोढ़ीगोला (167बूथ) छठा चरण- नोखा (184 बूथ) एवं नासरीगंज (165 बूथ) सातवां चरण- शिवसागर (211 बूथ) एवं चेनारी (146 बूथ) आठवां चरण- कोचस (177 बूथ) एवं डेहरी (197 बूथ) नौवां चरण- दिनारा (305 बूथ) एवं सूर्यपुरा (82 बूथ) दसवां चरण- करगहर (296 बूथ) एवं राजपुर (103 बूथ)

खबरें और भी हैं...