पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सासाराम:सर्वार्थ सिद्धि एवं आयुष्मान योग के संयोग में रक्षाबंधन

सासाराम10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रक्षाबंधन का त्योहार सावन माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस साल सावन के आखिरी सोमवार 3 अगस्त को रक्षाबंधन का त्योहार पड़ रहा है। भाई-बहन का पवित्र त्योहार रक्षाबंधन इस बार बेहद खास होगा, क्योंकि इस साल रक्षाबंधन पर सर्वार्थ सिद्धि और दीर्घायु आयुष्मान का शुभ संयोग बन रहा है। ज्योतिषाचार्यों पंडित इन्दुप्रकाश मिश्र के मुताबिक, रक्षाबंधन पर ऐसा शुभ संयोग 29 साल बाद आया है। सोमवार को सुबह 9.28 बजे के बाद राखी का शुभ मुहूर्त है। इससे पहले भद्रा काल है।

इस काल में राखी नहीं बांधनी चाहिए। कोराेना संकट के कारण इस बार पर्व-त्योहारों के मौके पर कुछ खास उल्लास देखने को नहीं मिल रहा है। सावधानी को लेकर लोग बाजार में भी बहुत कम ही निकलने का प्रयास कर रहे हैं। लॉकडाउन होने के कारण इस बार बहनों के घर राखी बंधवाने जाने में भाईयों को काफी परेशानी होगी। निजी वाहन वाले तो किसी तरह से चले जाएंगे लेकिन जो सवारी गाड़ी के भरोसे रहेंगे उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। शनिवार को राखी की खरीदारी को लेकर बाजारों में भीड़ रही। हालांकि इस दौरान लोग मास्क में दिखे।

बहनों में अपने पसंद की राखी की खरीदारी की। सनातन धर्म में रक्षाबंधन का बहुत अधिक महत्व है। जिसे भाई-बहन के प्रेम का परिचायक माना जाता है। इससे सामाजिक और पारिवारिक संबंधों में प्रगाढ़ता आती है। रक्षाबंधन भाई-बहन के प्रेम का अटूट रिश्ता कहलाता है। कोरोना महामारी में इस बार यह पर्व लॉकडाउन में मनाया जाएगा। इस साल रक्षाबंधन पर सर्वार्थ सिद्धि और दीर्घायु आयुष्मान योग के साथ ही सूर्य शनि के समसप्तक योग, सोमवती पूर्णिमा, मकर का चंद्रमा श्रवण नक्षत्र, उत्तराषाढ़ा नक्षत्र और प्रीति योग बन रहा है।

इसके पहले यह संयोग साल 1991 में बना था। इस संयोग को कृषि क्षेत्र के लिए विशेष फलदायी माना जा रहा है। राखी की थाली में रेशमी वस्त्र, केसर, सरसों, चावल, चंदन और कलावा रखकर भगवान की पूजा करनी चाहिए। इसके बाद राखी भगवान शिव की प्रतिमा को अर्पित करें। अब भगवान शिव को अर्पित किया गया धागा या राखी भाइयों की कलाई में बांधे। राखी बांधने के दौरान मंत्र ‘’येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल: पढ़ें।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें