विश्व हृदय दिवस:सात दिवसीय चिकित्सा परामर्श सप्ताह का हुआ शुभारंभ

सासाराम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शुभारंभ के बाद चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देश देते सिविल सर्जन - Dainik Bhaskar
शुभारंभ के बाद चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देश देते सिविल सर्जन
  • चिकित्सकों काे दी जाएगी हृदय रोग से बचाव करने की आवश्यक जानकारी

विश्व हृदय दिवस के अवसर पर बुधवार को सासाराम सदर अस्पताल में निःशुल्क चिकित्सा परामर्श सप्ताह का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ सिविल सर्जन डॉ सुधीर कुमार ने किया। इस अवसर पर सिविल सर्जन ने कहा आज देश में दिल के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है जिसका मुख्य कारण असंतुलित खानपान एवं तनाव है। हृदय संबंधित रोग उम्र देखकर नहीं होता है। किसी भी उम्र में हम प्रभावित हो सकते हैं। बच्चे, बूढ़े, युवा सभी लोग इस बीमारी से पीड़ित हो सकते हैं। इसलिए, हर आयु वर्ग के लोग को इससे बचाव से संबंधित उपायों का पालन करना बेहद जरूरी है। साथ ही चिकित्सा परामर्श के अनुसार उपचार कराना भी जरूरी है। खासकर 40 वर्ष के बाद दिल की बीमारी से ज्यादा पीड़ित हो जाते हैं ऐसे में हमें इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि उचित खानपान और नियमित व्यायाम करते रहे।

सिविल सर्जन से कहा पीएचसी से लेकर अनुमंडल व जिलास्तरीय सभी अस्पतालों में लोगों 29 सितंबर से निशुल्क चिकित्सा परामर्श सप्ताह का आयोजन किया गया है। जिसमें चिकित्सकों द्वारा लोगों को हृदय रोग के कारण, लक्षण एवं इससे बचाव की विस्तारपूर्वक जानकारी दी जाएगी। इस दौरान सप्ताह भर लोगों को हृदय रोग से बचाव के लिए आवश्यक जानकारी दी जाएगी और जागरूक किया जाएगा। उन्होंने बताया हृदय रोग से पीड़ित मरीजों को आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर सरकारी अस्पतालों में हो रही जांच की जानकारी देंगी और जांच कराने के लिए प्रेरित करेंगी। सिविल सर्जन डॉ सुधीर कुमार ने बताया, 29 सितंबर से विश्व हृदय दिवस के अवसर पर जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थानों में निःशुल्क चिकित्सा परामर्श सप्ताह कार्यक्रम शुभारंभ करने का निर्देश प्राप्त हुआ है।

बीमारी का लक्षण दिखते ही कराएं इलाज
मौके पर मौजूद एनसीडीओ डॉ के एन तिवारी ने कहा इस बीमारी का लक्षण दिखते ही इलाज कराना बेहद जरूरी है। दरअसल, समय पर इलाज कराने से स्थाई निजात मिल सकती है। अन्यथा यह बीमारी आपके जिंदगी का हिस्सा बन सकता है। इसलिए जैसे ही बीमारी के लक्षण दिखे कि तुरंत किसी अच्छे चिकित्सक से इलाज कराना चाहिए और चिकित्सा परामर्श का हरसंभव पालन करना चाहिए। इससे ना सिर्फ आपको बीमारी से आराम मिलेगा, बल्कि बीमारी से स्थाई निजात भी मिलेगी।

खबरें और भी हैं...