पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विचारों को आत्मसात:डॉ. राम सुभग सिंह की मनाई गई जयंती, वक्ताओं ने कहा- सादगी की प्रतिमूर्ति थे

सासारामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिविल कोर्ट सासाराम परिसर में पूर्व रेल मंत्री डॉ राम सुभाग सिंह की जयंती मनाई गई। जयंती समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ कांग्रेस नेता कन्हैया सिंह ने की। इस अवसर पर वहां उपस्थित कांग्रेस नेताओं तथा अधिवक्ताओं ने पूर्व रेल मंत्री के तैल चित्र पर फूल माला चढ़ाकर श्रद्धांजलि दी। मौके पर आयोजित गोष्ठी को संबोधित करते हुए कन्हैया सिंह ने कहा कि डॉ राम सुभाग सिंह हमेशा ही गरीब तबके के लोगों के लिए संघर्ष करते रहे थे।

वे सादगी व त्याग की प्रतिमूर्ति थे। उन्होंने दूसरों की भलाई के लिए अपना पूरा जीवन न्योछावर कर दिया था। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के मंत्रिमंडल में रेल मंत्री एवं अन्य कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे थे। केंद्र सरकार में जांच एवं संचार मंत्री और रेल मंत्री के रूप में उनके कार्यकाल को स्वर्ण अक्षरों में अंकित किया गया है।

उन्होंने अपने पद का निर्वहन बड़े ही ईमानदारी से किया था। उच्च पद पर रहते हुए भी अपने अपने परिवार के लिए उन्होंने कुछ नहीं किया। उनका एक साधारण सा मकान आज भी आरा में है। उनके सादगी भरे जीवन और ईमानदारी को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। डॉ सुभग बाबू के विचारों को आत्मसात करने की जरूरत है।

खबरें और भी हैं...