चु़नाव तैयारी:आयोग ने तय की प्रत्याशियों के लिए खर्च की सीमा

सासाराम/ बिक्रमगंज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला परिषद उम्मीदवार अधिकतम एक लाख एवं मुखिया प्रत्याशी 40 हजार तक कर सकते हैं खर्च

बिहार में पंचायत चुनाव की अधिसूचना 20 अगस्‍त के बाद कभी भी जारी हो सकती है। चुनाव को लेकर आयोग ने स्‍पष्‍ट कर दिया है कि प्रत्याशी अगर वोट के लिए रुपये बांटता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। प्रत्‍याशियों के लिए चुनाव में खर्च की सीमा तय कर दी गई है। प्रत्याशी किसी भी राजनीतिक दल के झंडा या पोस्टर का इस्तेमाल नहीं करेंगे। जिला परिषद उम्मीदवार अधिकतम एक लाख तक खर्च कर सकते हैं तो मुखिया व सरपंच उम्मीदवार के लिए यह सीमा 40 हजार रुपये है। पंचायत समिति सदस्य के उम्‍मीदवार 30 हजार, ग्राम पंचायत सदस्य और पंच के उम्‍मीदवार 20-20 हजार रुपये तक खर्च कर सकते हैं। चुनाव आयोग ने बिहार पंचायत चुनाव के दौरान मतदान के लिए कुल 16 तरह के दस्तावेजों को मान्यता प्रदान की है। इस बार एक नया प्रयोग करते हुए जमीन के दस्तावेज और शस्त्र के लाइसेंस को भी मान्यता दी गयी है। जिला पंचायती राज पदाधिकारी अमरेंद्र कुमार ने बताया कि आगामी पंचायत चुनाव में मतदान को और अधिक सरल बनाने के लिए दो अन्य दस्तावेजों को जोड़ा गया है। इसमें शस्त्र लाइसेंस और जमीन के दस्तावेज को अनुमति दी गयी है। ध्यान रहे कि जमीन के वही कागजात मान्य होंगे जिनमें फोटो लगा होगा।

राजनीतिक दलों के झंडा-बैनर के इस्‍तेमाल की मनाही
राज्य निर्वाचन आयोग ने उम्‍मीदवारों को राजनीतिक दल का झंडा-पोस्टर इस्तेमाल नहीं करने की हिदायत दी है। ऐसा करने वाले उम्‍मीदवार अयोग्य करार दिए जाएंगे। जाति-धर्म, नस्ल, समुदाय व भाषा के आधार पर घृणा फैलाने को भी चुनावी गाइडलाइन का उल्लंघन माना जाएगा। चुनाव प्रचार के लिए मंदिर-मस्जिद या अन्‍य धार्मिक स्थलों का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। ऐसे उम्मीदवारों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...