पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मनमानी:ग्रामीणों द्वारा नहर बंद कर दिए जाने से नहीं पहुंच पा रहा पानी

बिक्रमगंज20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • छतौना के किसानों ने जलमग्न हुए खेतों से पानी निकालने को ऐसा किया

छतौना के किसानों ने अपने जलमग्न हुए खेतों से पानी निकासी करने के लिए हेड रेगुलेटर गिरा भोजपुर वितरणी नहर का पानी बंद कर दिया है। मिली जानकारी अनुसार मंगलवार को डिहरी- बक्सर मुख्य नहर के श्रीखिंडा लख के समीप छतौना गांव के ग्रामीणों द्वारा अवैध रूप से हेड रेगुलेटर गिराने से भोजपुर वितरणी नहर में पानी नहीं पहुंच रही है। हजारों एकड़ क्षेत्र में खरीफ (धान) कृषि कार्य प्रभावित श्रीखिंडा लख (नोखा) के समीप से भोजपुर वितरणी नहर का उद्गम स्थल है। जहां पर हेड रेगुलेटर स्थापित किए गए हैं। हेड रेगुलेटर उठाने से नहर में पानी का प्रवाह होता है तथा हेड रेगुलेटर गिरा देने पर पानी का प्रवाह बन्द हो जाता है। मंगलवार को शाम करीब 4 बजे छतौना गांव के मंटू कुमार के नेतृत्व में 2 दर्जन से अधिक ग्रामीण पहुंचकर भोजपुर वितरणी नहर का हेड रेगुरलेटर गिरा डालें। जिससे भोजपुर वितरणी नहर में पानी नहीं जाने के कारण खरीफ फसल धान की खेती प्रभावित है। जिससे किसानों में आक्रोश देखे गए।

भाेजपुर वितरणी नहर से हजाराें एकड़ खेतों की हाेती है सिंचाई
भोजपुर वितरणी नहर के पानी से करीब हजारों एकड़ जमीन खेत सिंचित होते हैं। यह नहर संझौली ,बिक्रमगंज, सूर्यपुरा, दावथ प्रखण्ड होते हुए बक्सर जिले के नावानगर प्रखंड में प्रवेश करती है। छतौना के कुछ ग्रामीणों के इस करतूत से भोजपुर वितरणी नहर के अधिकारियों एवं कर्मियों को आक्रोशित किसानों का कोप भाजन बनना पड़ता है। हजारों एकड़ कृषि कार्य प्रभावित होती है। कानूनी करवाई न करने से ग्रामीणों में यह परिपाटी बनी हुई है।

जलजमाव के कारण खेती प्रभावित

छतौना गांव के ग्रामीणों का कहना है कि गांव के खेतों में आवश्यकता से अधिक जलजमाव हो जाने के कारण खेती कार्य प्रभावित है। हेड रेगुलेटर को बंद कर जलमग्न खेतों से पानी निकाला जाता है। ऑपरेटर मीर हसन के समझाने बुझाने पर ग्रामीण एक नहीं सुनी। मात्र 20 से 30 एकड़ जलजमाव वाले खेतों से पानी निकालने के लिए भोजपुर वितरणी नहर को पानी जाना बंद कर देना न्याय उचित प्रतीत नहीं होता है।
थाना से लेकर उच्चाधिकारियों तक लोगों ने की है मामले की शिकायत​​​​​​​

^इस संबंध में कपिल देव शर्मा, अवर प्रमंडल पदाधिकारी सोन नहर, अवर प्रमंडल बिक्रमगंज ने लिखित शिकायत उच्च अधिकारियों एवं नोखा थाना को दी है। कहा गया है इस मामले में जांच कर जल्द से जल्द कार्रवाई की जाए। जिससे की धान की रोपनी प्रभावित नहीं हो सके।

खबरें और भी हैं...