वसूली अभियान:मंदना पर है 12 लाख रुपए बकाया इसलिए काटी बिजली : अरविंद

शेखपुरा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले 25% ही हो पाती थी वसूली, अभियान से हुआ है राजस्व में इजाफा

बकायेदारों के विरुद्ध बिजली विभाग लगातार वसूली का अभियान चला रहा है और जो बकाया राशि नहीं दे रहे है वैसे उपभोक्ताओं का कनेक्शन काटा जा रहा है। बिजली विभाग कार्यपालक अभियंता अरविन्द कुमार ने कहा कि मंदना गांव पर बिजली विभाग का लगभग 12 लाख रुपया बकाया है और वहां के ग्रामीण बिल देने में आनाकानी कर रहे थे।

यदि बकायेदार उपभोक्ता का कनेक्शन काटा जाता तो वह टोंका फंसाकर पुन: बिजली का उपयोग कर लेते। इसी को लेकर शुक्रवार को सुबह 11 बजे पूरे मंदना गांव का बिजली काटा गया था। हालांकि ग्रामीणों को 4 दिनों का अल्टीमेटम देते हुए शाम को पुन: मंदना गांव में बिजली चालू कर दिया गया। उन्होंने कहा कि बिजली बिल जमा करने के प्रति उपभोक्ताओं को लगातार जागरूक किया जा रहा है।

अगर उनके यहां ज्यादा बकाया है तो वह किस्त दर किस्त करके तीन या चार बार में अपना बिजली बिल जमा करा दें, लेकिन इसके बाद भी उपभोक्ताओं के द्वारा बिजली बिल जमा नहीं किया जा रहा है इस वजह से बिजली बिल बकाया रखने वाले उपभोक्ताओं का कनेक्शन काटा जा रहा है। कार्यपालक अभियंता ने कहा कि बिजली विभाग किसी भी कीमत पर ऐसे उपभोक्ताओं को बख्शेंगे।

राजस्व डेढ़ गुणा बढ़ा
कार्यपालक अभियंता अरविन्द कुमार ने कहा कि बिजली बकाया को लेकर चलाए जा रहे है अभियान में राजस्व में डेढ़ गुणा बढ़ोत्तरी हुई है जो अभी भी ना काफी है। उन्होंने कहा कि पूरे जिले में प्रतिमाह 8 करोड़ रुपए की बिजली खपत होती है और उसके एवज में सिर्फ दो करोड़ रुपए की वसूली हो पाती थी। बिजली विभाग द्वारा लगातार चलाए जा अभियान से पिछले दो माह में राजस्व की डेढ़ गुणा बढ़ोतरी हुई है। अब बिजली विभाग को साढ़े तीन करोड़ राजस्व का इजाफा हो रहा है। अरविन्द कुमार ने कहा कि उनका लक्ष्य 5 करोड़ है और इसके लिए बिजली विभाग द्वारा लगातार अभियान चलाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...