पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विधानसभा चुनाव:चुनाव चिह्न आवंटित होने के बाद क्षेत्र भ्रमण में उतरे प्रत्याशी पंपलेट-विजटिंग कार्ड बनवाने के लिए पहुंच रहे प्रिंटिंग प्रेस

शेखपुरा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • किसी प्रत्याशी ब्लैक बोर्ड, तो किसी बाल्टी तो किसी को मोती का हार आदि सिंबल मिले

बिहार विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में जिले के दो विधानसभाओं का मतदान 28 अक्तूबर को होने जा रहा है। जिसमें दोनों विधान सभा के कुल 21 प्रत्याशी मैदान में हैं। वहीं, नाम वापसी का समय खत्म होते ही निर्वाचन आयोग द्वारा मंगलवार को सभी प्रत्याशियों को चुनाव चिह्न जारी भी कर दिया गया। जिसमें सभी प्रत्याशी को अलग-अलग सिंबल मिले हैं जिससे कि मतदाताओं को उनकी पहचान करने व मताधिकार का प्रयोग करने में सहूलियत हो सके। किसी प्रत्याशी ब्लैक बोर्ड, तो किसी बाल्टी तो किसी को मोती का हार आदि सिंबल मिले हैं।

चुनाव चिह्न जारी होते ही सभी प्रत्याशी अपने-अपने प्रचार में तेजी से जुट गए हैं। इसके साथ ही प्रिंटिंग प्रेस में प्रत्याशी पंपलेट व बैनर बनवाने के लिए जुटने लगे हैं। सबसे अधिक जोर पंपलेट व विजटिंग कार्ड पर है। इस बाबत ग्लोबल प्रिंटिंग प्रेस के संचालक रवि रौशन ने बताया कि मतदान के लिए समय अब गिनती के बचे हैं। ऐसे में बड़ी पार्टियों के अलावा अन्य पार्टी व निर्दलीय पार्टी के प्रतिनिधि अपने-अपने कैंडिडेट के लिए पंपलेट और विजटिंग बनवाने के लिए ज्यादा जोर मार रहे हैं।
चुनाव चिह्न मिलते ही पोस्टर बनाने पर दे रहे हैं जोर
यह तेजी मंगलवार को चुनाव चिन्ह मिलते ही देर शाम से आई है। इससे पहले इस तरह का काम नहीं था। संचालक ने बताया कि इस तरह का काम ना केवल शहर से आ रहा है बल्कि जिले के दो विधान सभाओं से भी आ रहा है। कुछ लोग अपनी गाड़ी पर पोस्टर लगवाने के लिए आर्डर कर रहे हैं। ऐसे आर्डर जल्दी देने होते हैं। लिहाजा हर हाल में उनका काम जल्द से जल्द पूरा करना है। समय पर काम पूरा नहीं होने पर पार्टी के नाराज होने की आशंका बनी रहती है।

खबरें और भी हैं...