नई गाइडलाइन लागू:व्यवसायियाें ने कहा- लगे लॉकडाउन, जान के आगे कुछ नहीं

शेखपुरा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना गाइडलाइन का पालन करते दुकानदार। - Dainik Bhaskar
कोरोना गाइडलाइन का पालन करते दुकानदार।
  • अब शाम 6 बजे से नाइट कर्फ्यू, 4 बजे तक बंद रहेंगी सभी दुकानें-ऑफिस, पहले दिन से दिख रहा है असर

कोरोना की तेज होती रफ्तार के कारण एक साल और बर्बाद होने की कगार पर पहुंच गया है। बाजार से लेकर घर तक लोग परेशान हो रहे हैं। शहर की हालत इस बार सबसे ज्यादा खराब है। कोरोना के नए मामले रोज शहर का ग्राफ बढ़ा रहे हैं। वहीं, कोरोना ने इस बार भी बाजार चौपट कर दिया है। व्यवसायियों का साफ कहना है कि सरकार का हर निर्णय सिर आंखों पर है। आदमी की जान के आगे कुछ भी नहीं है। सरकार को अविलंब लॉकडाउन लगाना चाहिए। शहर की स्थिति काफी खराब होती जा रही है। कोरोना इस कदर रौद्र रूप में है कि अब दुकान खोलने से डर लग रहा है। इस साल भी सबकुछ चौपट हो गया है। लाखों रूपये मूल्य के सामान का स्टॉक दुकान में पड़ा है, लेकिन सरकार की बंदिश के कारण खरीदार बाजार से नदारद है।
दुकानदारों ने कहा हर हाल में लगे लॉकडाउन
किराना दुकानदार राहुल कुमार ने कहा कि बीते साल से भी बुरा यह साल साबित होने वाला है। कोरोना ने छोटे व्यापारियों की कमर तोड़ दी है। सरकार के हर फैसले को मानना भी जरूरी है। किराना दुकानदार पर सरकार ने बंदिशें तो लगाई है। समय भी निर्धारण कर एक अच्छी पहल की है। लोगों की जान बचाने के लिए सरकार को अविलंब लॉकडाउन करना जरूरी है। इलेक्ट्रॉनिक कारोबारी सुनील कुमार ने कहा कि लॉकडाउन हर समस्या का समाधान नहीं है। सरकार को लॉकडाउन के बदले दूसरे विकल्प की तलाश करनी चाहिए।

एक तो पहले ही बाजार ने परेशान कर दिया है। इलेक्ट्रॉनिक बाजार में वैसे भी खरीदार नहीं आ रहे हैं। सरकार को समय में कुछ रियायत देनी चाहिए। बीते साल के बोझ से अब तक नहीं उबर पाया है बाजार, ये साल भी खराब ही जा रहा है। सरकार जो भी निर्णय लेगी उसका पालन किया जाएगा। किराना कारोबारी सुमित साव ने कहा कि कोरोना ने अब तबाही मचाना शुरू कर दिया है। सरकार को बिना समय गवाएं लॉकडाउन लगाना चाहिए। तभी लोगों की जान बच सकती है। दुकान पर किस तरह के लोग आते हैं, यह दुकानदार को पता नहीं रहता है। ग्राहक भी अगर कोरोना संक्रमित है तो बताने से परहेज करता है। ऐसे में सिर्फ एक ही विकल्प है लॉकडाउन करना।

शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू

बिहार सरकार ने नाइट कर्फ्यू का समय बढ़ा दिया गया है। अब यह शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा। अभी तक नाइट कर्फ्यू रात 9 से सुबह 5 बजे तक ही था। बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए बिहार सरकार ने सभी दुकानें जिन्हें शाम 6 बजे तक खोलने की अनुमति थी, जो शाम 4 बजे तक ही खुलेंगी। सभी सरकारी-निजी ऑफिस (आवश्यक सेवाओं में आने वाले को छोड़कर) भी अब 25% कर्मियों के साथ शाम 4 बजे तक ही खुलेंगे। वहीं, नाइट कर्फ्यू का नियम पब्लिक ट्रांसपोर्ट, कृषि कार्य, औद्योगिक इकाइयों, निर्माण कार्य, स्वास्थ्य प्रतिष्ठानों और इससे संबंधित कार्यों, ठेले पर फल-सब्जी की बिक्री करने वालों, रेस्टोरेंट्स इत्यादि पर लागू नहीं होगा। रेस्टोरेंट में रात 9 बजे तक खाना पैक करवा कर ले जाने की सुविधा जारी रहेगी। यह सख्तियां 29 अप्रैल से लागू होकर 15 मई तक या अगले आदेश तक जारी रहेंगी। साथ ही बिहार सरकार अब कोरोना से जान गंवाने वालों का अंतिम संस्कार अपने खर्च पर कराएगी। इसके दायरे में वो मृतक भी आएंगे, जिनमें लक्षण थे लेकिन वह कोविड टेस्ट में नेगेटिव पाए गए।

खबरें और भी हैं...