सुरक्षा में भारी चूक:खुले गेट से बाल कैदी फरार, दो गार्ड की भूमिका संदिग्ध, दाेनों से पूछताछ जारी

शेखपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शेखपुरा के मटोखर दह में स्थित राज्य के इकलौते प्लेस ऑफ सेफ्टी में आवासित एक किशोर कैदी बुधवार की देर शाम गार्ड को चकमा देकर भाग निकला। कैदी के भाग जाने की भनक तब लगी जब शाम में कैदियों को कमरे में बंद करने के दौरान गिनती की गई। एक कैदी के कम होने की खबर फैलते ही सभी में हड़कंप मच गया। इसकी सूचना मिलने के बाद सहायक निदेशक डॉ.अर्चना कुमारी पहुंची और कैदी के जोर-शोर से तलाश होने लगी। लेकिन कैदी नहीं मिला तो गुरुवार को सदर थाना में अधीक्षक के द्वारा कैदी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। इस मामले में सहायक निदेशक डॉ.अर्चना कुमारी जिला की बाल संरक्षण पदाधिकारी अर्चना कुमारी ने कहा कि कैदी के फरार होने के मामले की जांच पुलिस के द्वारा की जा रही है। वहीं, इस मामले में कार्रवाई करते अधीक्षक सहित सभी कर्मियों पर वेतन पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गयी एवं इसकी जांच के लिए एक टीम का गठन किया गया है।

पूर्व में भी अधीक्षक पर लग चुके हैं कई आरोप
सहायक निदेशक डॉ.अर्चना कुमारी ने बताया कि उक्त किशोर कैदी को बलात्कार के मामले में पटना एडीजे न्यायालय के आदेश से यहां आवासित किया गया था। प्लेस ऑफ़ सेफ्टी से किशोर कैदी को फरार होने की जानकारी पटना पुलिस एवं संबंधित न्यायालय को दी गयी है। उन्होंने कहा कि पूर्व से अधीक्षक पर कई आरोप लग चुके है। सुरक्षा में चूक की वजह से पूर्व में दो बार किशोर कैदी फरार हो चूके है। हाल ही में शराब पार्टी का वीडियो वायरल होने पर अधीक्षक का वेतन बंद एवं दोषी पुलिसकर्मियों को हटाया गया था। डॉ.अर्चना कुमारी ने कहा कि किशोर कैदी फरार मामले में 24 घंटे के अंदर स्पष्टीकरण मांगा गया है तथा दोषी पुलिस कर्मियों को निलंबित करने की अनुशंसा की गयी है।

खबरें और भी हैं...