पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्थानीय उठा रहे हैं लाभ:सामुदायिक किचन जरूरतमंदों के लिए नहीं हो रहा है सार्थक साबित, स्थानीय उठा रहे हैं लाभ

शेखपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सामुदायिक किचन में भोजन खाते स्थानीय मुहल्लेवासी। - Dainik Bhaskar
सामुदायिक किचन में भोजन खाते स्थानीय मुहल्लेवासी।

कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार पर नियंत्रण के लिए राज्य सरकार के द्वारा 15 मई तक लॉक डाउन लागू किया गया है। जिसको लेकर विभिन्न राज्य व जिले में मजदूरी कर जीवन यापन करने वाले लोग अपने जिले वापस आ रहे है। वहीं, लॉक डाउन में विभिन्न प्रतिबंधों के तहत मजदूर, निर्धन, निराश्रित निःशक्त एवं जरूरतमंद व्यक्तियों के लिए जिला प्रशासन के द्वारा सामुदायिक किचन का संचालन कर नि:शुल्क भोजन की व्यवस्था की गई है। जिला प्रशासन के द्वारा सड़क पर पैदल चलने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया।

जिसके कारण जरूरतमंद लोग सामुदायिक किचन नहीं पहुंच पा रहे है। जिसका फायदा स्थानीय मुहल्लावासी ही उठा रहे है। दरअसल जिला प्रशासन के द्वारा शेखपुरा के अभ्यास मध्य विद्यालय एवं बरबीघा के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय समुदाय किचन का निर्माण किया गया है। लेकिन, प्रवासियों को इस स्थान के बारे में जानकारी ही नहीं है। बाहर से आ रहे प्रवासी अपने सिर में भारी भरकम वजन को लेकर वाहन की व्यवस्था नहीं रहने पर पैदल ही घर की ओर निकल रहे है।

खबरें और भी हैं...