दहेज में लग्जरी कार न मिलने पर विवाहिता की हत्या:इलाज के दौरान पटना में हुई मौत, पति सहित पांच नामजद बनाए गए अभियुक्त

शेखपुरा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

शेखपुरा में दहेज के कारण एक विवाहिता कंचन कुमारी की जहर खिलाकर हत्या मामले में मृतका के पिता ने केवटी ओपी पुलिस से लिखित शिकायत की है। इस बाबत केवटी ओपी अध्यक्ष महेश सिंह ने बताया कि ससुराल वालों ने जबरन विवाहिता को जहर खिलाकर मार दिया।

उन्होंने बताया कि नालंदा जिला अन्तर्गत सिलाव थाना क्षेत्र के हरियरी बीघा के रहने वाले इंद्रजीत कुमार ने अपनी पुत्री की शादी 2017 में केवटी ओपी के पोलहरपर गांव के रामविलास यादव के बेटे जितेंद्र यादव के साथ की थी। शादी के थोड़े दिन बाद ससुराल वालों ने कार की डिमांड शुरू कर दी। लड़की के मना करने पर ससुराल वालों ने प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

इसकी सूचना नवविवाहित लड़की ने अपने पिता को दी जिसके बाद पिता ने अपनी पुत्री के घर जाकर ससुराल वालों को काफी समझाया। लेकिन वहां ससुराल वालों ने कहा कि अगर कार नहीं देंगे तो बेटी को घर में जहर देकर मार देंगे। थोड़े दिन बाद दहेज लोभियों ने लड़की को घर से बाहर कर दिया।

इस घटना के बाद पीड़ित परिजन ने लड़के के परिवार के खिलाफ केस बिहार शरीफ कोर्ट मे कर दिया। कोर्ट के आदेश के बाद लड़के के परिजन कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए। बाद में कोर्ट ने लड़का और उसके परिजन के खिलाफ गैर जमानत वारंट निर्गत कर दिया गया।

हालांकि इसके बाद लड़की के ससुराल वाले आकर काफी मिन्नत की और कहा कि अब ससुराल में लड़की को कोई दिक्कत नहीं होगी और लड़की को लेकर चले गए। ससुराल वालों ने गत 3 जनवरी को विवाहिता को जहर दे दिया और तबियत ज्यादा खराब होने के बाद जीवन दीप अस्पताल पटना में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान विवाहिता की मौत हो गई। बाद में पुलिस ने लाश को जब्त कर पोस्टमार्टम करवाई। बाद में लाश को परिजनों को सौंप दी गई। इस बाबत ओपी अध्यक्ष ने बताया कि मामले के सभी पांच अभियुक्त फरार है।

खबरें और भी हैं...