दुर्गोत्सव:माता रानी के दरबार में सुबह से लेकर देर रात तक श्रद्धालु लगाते रहे हाजिरी, दो साल के बाद चारों ओर नवरात्रि की धूम

शेखपुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बड़ी माता स्वर्णकार समाज की मां दुर्गा की प्रतिमा। - Dainik Bhaskar
बड़ी माता स्वर्णकार समाज की मां दुर्गा की प्रतिमा।
  • प्रतिमा स्थल के आस-पास मेले में खिलौने सहित चाट-गोलगप्पे व मिठाई की दुकानें सजीं

या देवी सर्वभूतेषु शक्ति रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै ,नमस्तस्यै, नमस्तस्यै नमो नमः से शहर -गांव में स्थापित मां दुर्गा का पूजा पंडाल गुंजायमान रहा। जिलेभर में सभी ओर लोग भक्ति भाव में सराबोर रहे। अष्टमी के अहले सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ मां दुर्गा का दर्शन करने पंडालों में पहुंचने शुरू हो गए। शक्ति की देवी मां दुर्गा की पूजा-अर्चना करने को लेकर महिला श्रद्धालुओं की खासी भीड़ पंडालों में देखी गई। इसके साथ ही बच्चों और पुरुषों की भीड़ भी बड़ी तादाद में पंडालों में नजर आ रही है। शहर में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित किए जाने के साथ ही, भारत मां की प्रतिमा भी स्थापित की जाती है। इसके साथ ही भगवान नरसिंह और काली माता की प्रतिमा भी स्थापित की गई है। शहर के साथ ही जिला के ग्रामीण इलाकों के विभिन्न गांवों में दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की गई है। जिसमें सदर प्रखंड के हथियावां, अवगिल, चांडे, पैन, गवय, कटारी, ढेऊसा, अरियरी थाना के केमरा, महुली, विमान, चेवाड़ा, घाटकोसुम्भा के माफो, भदौंस, शेखोपुरसराय के अम्बारी सहित अन्य जगहों पर प्रतिमा स्थापित किया गया है।

वर्षो से एक ही रूप में स्थापित होती है प्रतिमा
शेखपुरा शहर में दुर्गा प्रतिमा स्थापित करने का श्रेय स्वर्णकार दुर्गा पूजा समिति को है। लेकिन सैंकड़ो वर्ष बीत जाने के बाद भी दुर्गा माँ की प्रतिमा के रंग में किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ है। यहां माता की प्रतिमा गहरे लाल रंग की होती है। इसके अलावा बनिया समाज एवं माहुरी समाज की माता का प्रतिमा भी गहरे लाल रंग की है। इसके अलावे शहर के इन्दाय पर मुहल्ले स्थित माँ दुर्गा की प्रतिमा स्थापित किया गया है, जबकि इसके पंडाल का स्वरूप जयपुर के काली मंदिर के तर्ज़ पर है। वही गिरिहिंडा चौक स्थित स्थापित माँ दुर्गा की प्रतिमा स्थापित किया गया है, जबकि इसका पंडाल पेरिस जैन मंदिर का स्वरूप दिया गया है। इसके अलावे गोल्डन चौक, चकदीवान, डीएम हाई स्कूल में भी प्रतिमा स्थापित किया गया है। इसके साथ ही गिरिहिंडा, खांड पर, अहियापुर एवं चकदिवान मोहल्ले में भारत माता की प्रतिमा स्थापित की गयी है, जबकि पुल पर मोहल्ले में भगवान नरसिंह की प्रतिमा स्थापित किया गया है।

खबरें और भी हैं...