पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना अपडेट:पॉजिटिव होने के बाद भी संदीप घर से ही जांच व्यवस्था पर रख रहे नजर

शेखपुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घर से कार्य निपटाते संदीप। - Dainik Bhaskar
घर से कार्य निपटाते संदीप।
  • पहले पिता, पत्नी, पुत्री और भाई हुए संक्रमित, दूसरी बार पॉजिटिव होने के बावजूद बरबीघा रेफरल अस्पताल के डाटा एंट्री ऑपरेटर डटे हैं

दूसरी बार पॉजिटिव होने के बावजूद बरबीघा रेफरल अस्पताल में कार्यरत डाटा एंट्री ऑपरेटर संदीप भारती ने घर में ही आइसोलेट होकर जांच व्यवस्था की देखभाल कर रहे है। करीब 10 दिन पूर्व उनके पिता अजय सिंह, पत्नी शिंकु कुमारी, पुत्री सुहानी कुमारी और शेखपुरा सदर अस्पताल में कार्यरत छोटा भाई सौरभ भारती कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। घर पर सिर्फ़ पहले से बीमार मां के होने की वजह से सभी परिजनों की देखभाल संदीप ही कर रहे थे। एक तरफ घर की सारी जिम्मेवारी इन के कंधों पर थी तो दूसरी ओर अस्पताल में कोरोना जांच के लिए लोगों की बढ़ती भीड़।

फिर भी इन सब से विचलित नहीं होते हुए सुबह 05 बजे उठकर अपने चारों संक्रमित परिजनों की सेवा करते रहे और उन लोगों से अलग कर अपनी मां की देखभाल भी करते हुए, अपनी ड्यूटी पूरी तन्मयता के साथ संभालते रहे। इतनी संख्या में पॉजिटिव मरीजों के होने की वजह से दूसरे लोगों को घर पर आने पर पूर्ण पाबंदी लगा दी है और खुद ही सभी कार्य को निपटा रहे है। संदीप भारती कहते है कि हमारी ड्यूटी सुबह 10 बजे से दिन के 02 बजे तक ही है। लेकिन अस्पताल में मैन पावर की कमी और बढ़ते हुए काम तथा जांच व्यवस्था में तेजी लाने के उद्देश्य सुबह 07 बजे ही रेफरल अस्पताल चले जाते थे और रात के 07 से 08 बजे तक ड्यूटी करते थे।

जांच, इंट्री, ऑनलाइन रिपोर्ट करने के काम का एक सहयोगी के साथ था जिम्मा
संदीप ने बताया कि जांच व्यवस्था सिर्फ एक महिला जांच कर्मी पूजा कुमारी और मेरे कंधे पर है। पूजा जहां लोगों कोे जांच करती थी। वहीं, इंट्री करने से लेकर रिपोर्ट तैयार करने एवं ऑनलाइन रिपोर्ट देने के अलावा जांच से संबंधित सारे कार्य हम खुद ही करते थे। क्योंकि एक साथ करीब 5 चिकित्सक और दर्जनों स्वास्थ्य कर्मियों के पॉजिटिव पहले ही हो जाने की वजह से मैन पावर की कमी होती जा रही थी। वहीं, जांच कराने वाले लोगों से लेकर वैक्सीन लगाने वाले लोगों की संख्या में निरंतर वृद्धि होती जा रही थी। यही वजह था कि घर में एक साथ 4-4 पॉजिटिव परिजनों के होने के बाद भी हमने ड्यूटी में कमी करने के बजाय और तेजी ला दी। ताकि हमें किसी का कोपभाजन का शिकार होना ना पड़े और ना व्यवस्था में कोई कमी हो, जिसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़े।

ठीक होने के ड्यूटी पर पहुंच निभाएंगे अपना फर्ज
संदीप भारती ने बताया कि स्थानीय होने की वजह से अनेकों लोगों से मेरा करीबी संबंध है। जिसके कारण हम किसी भी व्यक्ति के बीमार होने के बाद उनके घर तक व्यवस्था देने चले जाते थे। 3 दिन पूर्व जांच रिपोर्ट में हम भी पॉजिटिव हो गए हैं। इसके बाद हम खुद आइसोलेट होते हुए अपने घर से ही ड्यूटी से संबंधित सारी व्यवस्था को संचालित कर रहा हूं। ताकि मेरे कारण किसी भी व्यक्ति को कोई परेशानी नहीं हो। इसके लिए अनेकों लोग हमें दुआएं भी दे रहे हैं ।जिससे हमें काफी सकून हो रहा है और मेरा हौसला भी बढ़ता जा रहा है और वह बहुत जल्द ठीक हो कर हम अपना ड्यूटी वहां जाकर करेंगे।

खबरें और भी हैं...