परेशानी:खाद के लिए किसानों के बीच मारामारी, बिस्कोमान भवन का लगा रहे चक्कर

शेखपुरा3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खाद लेने के लिए बिस्कोमान में उमड़ी भीड़। - Dainik Bhaskar
खाद लेने के लिए बिस्कोमान में उमड़ी भीड़।
  • खाद वितरण केंद्रों पर सैकड़ों किसानों की लाइन लग गई, कोविड गाइडलाइन का भी नहीं रखा जा रहा ख्याल

जिले में खाद की समस्या को लेकर किसान काफी परेशान है। खेती के समय यूरिया की समस्या एक बार फिर किसानों के सिर चढ़कर बोल रही है। किसान धान की फसल को मजबूत करने के लिए यूरिया को लेकर जद्दोजहद कर रहे हैं। हालांकि जिले के बिस्कोमान केंद्र शुक्रवार को खाद की बिक्री शुरू हुई है। जिसको लेकर सुबह से किसानो की भीड़ लगी रही है। इस दौरान खाद लिए किसानों ने जमकर हंगामा किया। वहीं, खाद के लिए विभिन्न वितरण केंद्रों पर पुरुषों के साथ महिलाओं की भी लंबी कतारें देखी गई। दरअसल, जिले में गेहूं सहित रबी फसल की बुआई समाप्त हो गयी है। जिसको लेकर किसानों को अभी यूरिया खाद की सख्त जरूरत है। क्योकि गेहूं की पटवन करने के बाद किसान को गेहूं की फसल में डालने के लिए यूरिया चाहिए। लेकिन किसानों को यूरिया नहीं मिल पा रही है।

इस बाबत किसानों ने बताया कि बारिश के बाद किसानों को गेहूं की फसलों में डालने के लिए यूरिया खाद की सख्त जरूरत है। लेकिन खाद नहीं मिलने के कारण लोगों को काफी परेशानी हो रही है। वहीं, जिले में शुक्रवार को खाद उपलब्ध होने के कारण आसपास के दर्जनों गांव के किसान खाद लेने के लिए बिस्कोमान केंद्र पर पहुंच गए। लेकिन भीड़ अधिक रहने के कारण किसानों को खाद के लिए मारामारी करनी पड़ रही है। महिलाएं, युवतियों के अलावे बच्चियां भी काउंटर तक पहुंचने के लिए धक्का-मुक्की और नोकझोंक करती देखी गई। यूरिया की कमी से परेशान किसान सुबह से वितरण केंद्र पर पहुंच गए। खाद वितरण केंद्रों पर सैकड़ों किसानों की लाइन लग गई।

सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ाई गईं धज्जियां
जिले में लगातार कोरोना संक्रमण की संख्या में वृद्धि हो रही है। इसके बावजूद भी बिस्कोमान भवन केंद्र पर कोविड नियम का मालूम पालन कराने को लेकर पुलिस बल की तैनाती नहीं की गई है। जिसके कारण किसानों के द्वारा सोशल डिस्टेंस की जमकर धज्जियां उड़ाई गई। वहीं किसान सुबह से ही लाइन में खड़े होकर खाद के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे। किसान बिना मास्क के ही सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाते हुए खड़े हैं। जिससे संक्रमण बढ़ने की संभावना बढ़ती जा रही है। गौरतलब होगी जिला प्रशासन के द्वारा कोविड नियम का अनुपालन कराने को लेकर विभिन्न स्थानों पर 28 दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। लेकिन केंद्र पर बिस्कोमान भवन केंद्र पर सोशल डिस्टेंस की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही है।

खाद के लिए उलझे किसान, सुरक्षा व्यवस्था का भी दिखा अभाव
बिस्कोमान भवन केंद्र पर खाद के लिए किसान एक दूसरे से उलझते नजर आए। लेकिन इससे छुटकारा दिलाना को लेकर जिला प्रशासन के द्वारा किसी प्रकार का सुरक्षा बल को तैनात नहीं किया गया है। गौरतलब हो कि खाद की खरीदारी करने को लेकर किसानों की बिस्कोमान भवन केंद्र पर सैकड़ो किसानों की जाम रहती है। जिसके कारण किसान के बीच जल्दी खाद लेने की आपाधापी में लगातार हंगमा होती रहती हैं। जिसके कारण कई बार किसानों बीच जमकर झड़प भी हो जाती है। लेकिन इससे बचाव को लेकर जिला प्रशासन के द्वारा सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम नहीं किया गया है। जिसके लेकर बिस्कोमान अधिकारी एवं कर्मी में काफी आक्रोश है।

खबरें और भी हैं...