फूल माला पहनाकर किया स्वागत:ऐतिहासिक मूर्तियों की महत्ता सरकार को बताएंगे गुड्डू बाबा

शेखपुरा25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के गवय गांव में समाज के हक में आवाज उठाने वाले वरिष्ठ समाजसेवी विकास चन्द्र उर्फ गुड्डू बाबा एवं उनकी पत्नी अंजू रोमा का ग्रामीणों ने फूल माला पहनाकर स्वागत किया। मौके पर सिंह ने शॉल देकर दोनो दंपति का सत्कार किया। इस मौके पर राजेश पांडेय, राकेश रोशन, नीलेश कुमार, बौआ पांडेय, राज गौतम, छोटन सिंह समेत सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे। विदित हो कि गवय गांव में महारानी स्थान में पाल वंश काल की छोटी-बड़ी लगभग 80 मूर्तियां है। जो वर्षों से उपेक्षित रखी हुई है।

यहाँ श्री भगवान विष्णु जी की 12 फीट की एक आदमकद मूर्ति भी है, जो शायद भारत की विष्णु भगवान की सबसे बड़ी मूर्ति साबित होगी। ऐतिहासिक रूप से इतने महत्व रखने के बावजूद आज भी लोग गवय गांव पर्यटन या धार्मिक महत्व से अनभिज्ञ है। जिसको लेकर वरिष्ठ समाजसेवी गुड्डू बाबा ने यहाँ की एंटीक मूर्तियों का निरीक्षण किया और कहा कि गवय गांव की मूर्तियां वास्तविक रूप से काफी महत्वपूर्ण है। जिससे हमारे ऐतिहासिक धरोहर को देखने वाले विभाग के लोग भी अब तक अनभिज्ञ है।

मैं इन मूर्तियों की महत्ता को सरकार के समक्ष प्रस्तुत करने को लेकर कृतसंकल्प हूं और गवय गांव को धार्मिक पहचान दिलाने का भरपूर प्रयास करूंगा। वही मौके पर उपस्थित गंगा बचाओ अभियान समिति से जुड़े गवय गांव निवासी राज गौतम ने बताया कि अस्पताल में वेस्टेज प्लांट, लावारिस लाशों के पिंडदान, गंगा बचाओ अभियान, गौशाला की जमीन अतिक्रमण मुक्त कराने को लेकर गुड्डू बाबा ने अनेक कार्य किये।गुड्डू बाबा हमारे विशेष आग्रह पर गबय गांव पहुंचे हैं।

खबरें और भी हैं...