परेशानी:लगातार बढ़ रही ठंड में ब्लड प्रेशर के मरीज बरतें सावधानी अन्यथा बढ़ जाएगी परेशानी ‎

शेखपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ठंड लगने से सर्दी-खांसी होना आम बात

बढ़ते हुए ठंड को लेकर सिविल‎ सर्जन ने लोगों से इस ठंड से‎ बचाव की अपील की है। उन्होंने‎ बताया कि इस बढ़ते ठंड में‎ खासकर दोपहिया वाहन चालक‎ को गर्म कपड़े पहने, कान, हाथ‎ पैर आदि को भी को ढककर रखने‎ की जरूरत है। लापरवाही बरतने‎ वाले वाहन चालक को सर्दी,‎ खांसी, जुकाम व गले में खरास‎ जैसे बीमारी होने की ज्यादा‎ संभावना बढ़ जाती है। लोगों को‎ सुबह-शाम पीने में गर्म पानी का‎ प्रयोग करना चाहिए है। काढ़ा का‎ सेवन करना चाहिए और रात में‎ ‎ लोगों को रोटी का सेवन करना‎ चाहिए।

खाना भी संतुलित मात्रा में‎ खाना चाहिए, ज्यादा खाने से पेट‎ में गैस बनने की संभावना अधिक‎ होता है। गैस बनने के कारण पेट‎ की पाचन शक्ति पर भी असर‎ पड़ता है। उन्होंने बच्चों, बुजुर्गों,‎ रक्तचाप के मरीज, दम्मा, गठिया‎ व डायबिटीज आदि के मरीजों को‎ खानपान में विशेष सावधानी‎ बरतने की सलाह दी है। उन्होंने‎ बताया कि वाहन चालकों में ठंड‎ लगने की ज्यादा संभावना रहती‎ है। ठंड लगने से सर्दी खांसी,‎ जुकाम, गले में खराश की‎ शिकायत होने की संभावना‎ अधिक रहता है।‎ ‎साथ ही डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि सर्दी के मौसम में अगर तबीयत खराब लगे तो अविलंब चिकित्सक से संपर्क करें और उनकी दी हुई दवाइयां खाएं।

सुबह शाम लोगों को पीना‎ चाहिए गर्म पानी‎
मौसम का पारा लुढ़कने से ठंड में‎ बढ़ोत्तरी हुई है। रविवार व सोमवार को भी दिन भर हवा बहने व मौसम‎ शुष्क रहने के कारण लोगों ने‎ कनकनी वाली ठंड महसूस किया।‎ ठंड बढ़ने के कारण लोग गर्म कपड़े‎ में लिपटे रहे। ठंड बढ़ने पर लोगों ने‎ दिन में भी चादर ओढ़ कर अपने‎ कार्य में व्यस्त रहे। मौसम विशेषज्ञ शबाना ने बताया कि‎ टेम्प्रेचर में लगभग 5 से 7 डिग्री‎ सेल्सियस का गिरावट दर्ज की गई‎ है। जिसके कारण कनकनी वाली‎ ठंड बढ़ने की संभावना बढ़ गई। ‎

खबरें और भी हैं...