कवायद:टीका महाभियान में 7000 से अधिक लोगों को लगायी कोरोनारोधी वैक्सीन

शेखपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोनावायरस की तीसरी लहर से बचने के लिए टीकाकरण और मास्क जरूरी

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लगातार कोरोनारोधी टीकाकरण महाभियान का सिलसिला जारी है। वहीं, मंगलवार को चलाए गए अभियान में 7 हजार से अधिक लोगों को कोराेनारोधी टीके की डोज लगाई गई। अभियान की शुरुआत से अब तक जिले में लगभग 5 लाख 16 हजार से अधिक डोज लगाया जा चुका है। दरअसल, मंगलवार को टीका महाभियान को लेकर सिविल सर्जन डॉ.पृथ्वीराज के द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शेखपुरा से हरी झंडी दिखाकर कुल 160 टीमों को शत प्रतिशत टीकाकरण को पूरा करने के लिए रवाना किया गया, जो जिले के विभिन्न प्रखंडों के पंचायतों में जा-जाकर लोगों को जागरूक कर टीका देने का कार्य कर रही है। स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर दस्तक अभियान, पल्स पोलियो के तर्ज पर घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करते हुए टीकाकरण का कार्य कर रही है। इस बाबत सिविल सर्जन डॉ.पृथ्वीराज ने बताया कि टीका महाभियान के तहत मंगलवार को 7 हजार से अधिक लोगों को वैक्सीनेट किया गया। उन्होंने कहा कि अगर आप सुरक्षित रहेंगे तो आपका पूरा परिवार सुरक्षित रहेगा। जिसको लेकर आप अवश्य टीका लगाए और अपने घर वालों को भी लेने के लिए प्रेरित करें। कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन से बचाव किया जा सके और अपना परिवार सुरक्षित रख सके। लोगों को जागरूक करते हुए उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर टीकाकरण ही एकमात्र उपाय है। जिसको सभी लोग जल्द से टीका लेकर सबको सुरक्षित करें।

आप सुरक्षित रहोगे तो पूरा परिवार रहेगा सुरक्षित : सिविल सर्जन

दस्तक अभियान के तहत बिना टीका लिए घूम रहे लोगों को चिन्हित करते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम टीका देने के कार्य कर रही है। वहीं, डीपीएम के नेतृत्व में कुसुंभा गांव में टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा था। इसी दौरान एक ट्रैक्टर चालक बिना टीका लिए ही घूम रहे थे। जिसे स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पकड़कर संक्रमण से बचाव के प्रति जागरूक करते हुए उसे टीका दिया। इसके साथ ही अन्य वाहन चालकों को भी रोक-रोककर चिन्हित करते हुए टीकाकरण का कार्य किया। गौरतलब है कि हमारे राज्य में कोरोना संक्रमण के नए वेरिएंट का दस्तक हो चुका है।

इससे बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट है। जिसमें जिले वासियों का भी पूर्ण सहयोग की आवश्यकता है। अगर जिले वासियों के द्वारा लापरवाही बरती गई तो जिले में भी संक्रमण का प्रकोप हो सकता है और कई लोग इसके चपेट में आ सकते हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर पूरे जिले में टीकाकरण अभियान को तेज करने का निर्देश दिया गया है। लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में फैले अफवाहों के कारण लोग टीका लेने से लगातार इंकार कर रहे हैं। जिसको लेकर स्वस्थ विभाग के डीपीएम श्याम कुमार निर्मल के द्वारा खुद अभियान चलाकर लगातार विभिन्न क्षेत्रों में पहुंचकर लोगों को टीका के लिए प्रेरित कर रही है।

टीका नहीं लेने का ग्रामीण बना रहे तरह-तरह के बहाने

ग्रामीण क्षेत्र में अभी भी टीकाकरण को लेकर गलत अफवाह एवं धारणा के कारण लोग टीका लेने से इंकार कर रहे हैं। वहीं, महिलाएं के द्वारा टीका नहीं लेने को लेकर तरह-तरह के बहाने बनाए जा रहे हैं। टीकाकरण अभियान के दौरान जीएनएम अरुणीम प्रभा एवं वेरिफायर अर्निका कुमारी के द्वारा एक ग्रामीण महिला से टीका लेने के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि वह टीका ले चुकी हैं, जब उनसे पूछा गया कि आपने टीका हाथ में लिया या फिर पैर में, जिस पर महिला ने पैर में लेने की बात कही। जिसके बाद टीम ने उन्हें टीका के प्रति जागरूक करते हुए कोरोना रोधी टीका का डोज दिया और अन्य महिलाओं को भी संक्रमण से बचाव को लेकर वैक्सीनेशन किया गया।

खबरें और भी हैं...