पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सख्ती:लॉकडाउन उल्लंघन करने पर जेवर व सीमेंट दुकान को किया सील

शेखपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जेवर दुकान को सील करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
जेवर दुकान को सील करते अधिकारी।
  • जिला प्रशासन बाजारों में घूम-घूमकर निर्देश दे रही है, फिर भी कई दुकानदार नहीं करते हैं गाइडलाइन का पालन

लॉकडाउन का अनुपालन को लेकर लगातार जिला प्रशासन बाजारों में घूम-घूमकर निर्देश दे रही है। इसके बावजूद भी कई दुकानदार नियमों एवं निर्देशों को ताक पर रखकर मनमानी करते हुए लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे हैं। जिसके तहत गुरुवार को बुधौली बाजार में नियम का उल्लंघन कर रहे हैं पारस वर्मा ज्वेलर्स की दुकान पर छापेमारी की गई। जिसमें दुकान को बाहर से बंद कर अंदर में ग्राहकों को सामान बिक्री की जा रही थी। जिस पर कार्रवाई करते हुए दुकान को सील करने का निर्देश दिया गया और दुकानदार पर भी कार्रवाई की गई है। इसके साथ ही गिरिहिंडा चौक के समीप एक सीमेंट दुकान के खुला रहने पर उसे बंद करते हुए उसे भी सील करने का निर्देश दिया। इसके अलावे बुधवार को खांड पर मुहल्ले स्थित वस्त्रलोक नामक कपड़ा दुकान को शेखपुरा थानाध्यक्ष ने सील कर दिया। जिसको लेकर दुकानदारों में हड़कंप मचा हुआ है।

लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए 11 स्थानों पर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई

15 मई तक दंड प्रक्रिया संहिता के आधार पर 144 के तहत जिला में निषेधाज्ञा लागू किया गया है। जिसे जिले में प्रभावी एवं कठोरता से लागू कराने को लेकर 11 स्थानों पर दंडाधिकारी एवं पुलिस अधिकारी के साथ सशस्त्र बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है। जिसमें बताया गया कि तीनमुहानी मोड़ से रेलवे स्टेशन तक नगर परिषद कार्यपालक पदाधिकारी दिनेश दयाल, रेलवे स्टेशन से गिरिहिंडा, गोल्डन चौक, बाईपास तक बीडीओ मंजूल मनोहर मधुप, चांदनी चौक पर प्रखंड कल्याण पदाधिकारी के साथ-साथ 11 स्थानों पर दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी के साथ सशस्त्र बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है।

इसके साथ ही नगर गस्ती के लिए प्रतिनिधि दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी को आदेश दिया गया है कि सुबह से ही वह अपने निर्धारित रूट पर आदेशों का अनुपालन सुनिश्चित करेंगे। सभी प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी सभी प्रतिबंधों का पूर्ण रूप से अनुपालन कराना सुनिश्चित करेंगे। जिसका अनुपालन कराने के लिए संपूर्ण प्रभार अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस अधिकारी को दिया गया है।

खबरें और भी हैं...