पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रोजा:माह ए रमजान: 8 साल की हिबा ने भी रखा रोजा

शेखपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रमजान का पाक महीना चल रहा है। हर आकिल और बालिग पर रोजा रखना फर्ज है। रोजा रखने व इबादत करने से अल्लाह खुश होता है। रोजेदारों पर अल्लाह अपनी रहमतों की बारिश करता है। इस महीने में रोजा रखने से अल्लाह की रजा हासिल होती है। तपती धूप रोजेदारों का खूब इम्तेहान ले रही है, लेकिन रमजान के अंतिम जुमे को तेज धूप और भीषण गर्मी की परवाह किए बिना मासूमों ने भी रोजा रखा। रोजे के साथ ही मासूमों ने इबादत भी की। नमाज पढ़ी और कुरआन की तिलावत की। मासूमों ने अल्लाह और उसके रसूल की रजा हासिल करने के लिए भूख व प्यास की शिद्दत बर्दाश्त की। चेवाड़ा प्रखंड निवासी सह लोजपा के जिलाध्यक्ष इमाम ग़ज़ाली कि 08 वर्षीय पुत्री हिबा ने भी अल्लाह और उसके रसूल की खुशी के लिए अंतिम जुमे का रोजा रखा और जुमे की नमाज भी अदा की। इस रमजान में हिबा ने कुल 15 रोज़ा रखी है।

खबरें और भी हैं...