पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:लाखों रुपए के नए बेड कबाड़ में हो गए तब्दील

शेखपुरा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पीएचसी के पीछे फेंका हुआ बेड। - Dainik Bhaskar
पीएचसी के पीछे फेंका हुआ बेड।
  • बिहार के तमाम अस्पतालों को 15 दिनों के अंदर तमाम सुविधाओं से सुसज्जित करने का दावा फेल

एक तरफ जहां मुख्यमंत्री बिहार के तमाम अस्पतालों को 15 दिनों के अंदर तमाम सुविधाओं से सुसज्जित करने की बात कह रहे है। वहीं, शेखपुरा के स्वास्थ्य विभाग की अधिकारियों की लापरवाही की वजह से लाखों रुपए का सामान कबाड़खाने में तब्दील हो गया है। उसका ज्वलंत उदहारण शेखपुरा पीएचसी के पीछे कूड़े-कबाड़खाने में तब्दील लाखों रूपये के नए बेड को देखकर लगाया जा सकता है। फिलहाल कबाड़खाने में तब्दील बेड में फूल और जंगल झाड़ उग गए है। गौरतलब है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर में मरीजों के इलाज के लिए विभिन्न अस्पतालों में बेड की समस्या हो रही थी। जिसके कारण मरीजों को जमीन पर ही रखकर ट्रीटमेंट और उपचार किया जा रहा था।

लेकिन स्वास्थ्य विभाग की जानकारी के बाद भी पीएचसी शेखपुरा के पिछले भाग में लगभग 36 बेड बेकार पड़े हुए थे। अगर इस बेड को किसी अस्पताल लगा दिया जाता तो कम से कम 36 मरीजों को राहत प्रदान होती। लेकिन स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण सभी बेड कबाड़ में तब्दील हो गया है। फ़िलहाल वर्तमान समय में बेड की किसी प्रकार की उपयोगिता नहीं है। खुले आसमान में रहने के कारण एवं लगातार पड़ रहे धूप- पानी से कबाड़ में तब्दील हो गया है। इसके रखरखाव को लेकर स्वास्थ विभाग के द्वारा लापरवाही बरते जाने के कारण सभी बेड बेकार हो गया है। इस संबंध में सिविल सर्जन ने बताया कि 2020 में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कोरोना काल के दौरान बेड उपलब्ध कराया गया था। जिसे उपयोग के लिए कोविड केयर सेंटर में लगाया गया था।

कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर बेड को रखा गया बाहर

सिविल सर्जन डॉ.कृष्ण मुरारी प्रसाद सिंह ने बताया कि 2020 के कोरोना काल के दौरान जखराज स्थान पर संचालित कोविड केयर सेंटर में बेड को लगाया गया था। वहीं, कोरोना काल में जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा नियंत्रण पाने के उपरांत सभी बेड को शेखपुरा पीएचसी के पीछे लाकर रख दिया गया। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के भय के कारण उसे अस्पताल के स्टोर रूम में न रखकर पीएचसी के पीछे रखा गया था। सीएस ने कहा कि सभी पीएचसी के लिए बेड का अलॉटमेंट कर दिया गया है। जिसे जल्द ही सभी पीएचसी को उपलब्ध करा दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...