पंचायत चुनाव आज:शेखपुरा पूर्वी क्षेत्र व घाटकुसुम्भा प्रखंड के 137 मतदान केंद्रों पर होगा मतदान

शेखपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दसवें चरण के मतदान के लिए ईवीएम ले जाते चुनावकर्मी। - Dainik Bhaskar
दसवें चरण के मतदान के लिए ईवीएम ले जाते चुनावकर्मी।
  • गांव की सरकार चुनने के लिए सुबह सात बजे से मतदान करेंगे ग्रामीण मतदाता

बुधवार को शेखपुरा प्रखंड के पूर्वी क्षेत्र एवं घाटकुसुम्भा प्रखंड की 11 पंचायतों के 137 मतदान केन्द्रों पर में दसवें चरण के पंचायत चुनाव के लिए मतदान होगा। जिसकी जिला प्रशासन के द्वारा सभी प्रकार की तैयारी पूरी कर ली गयी है। दरअसल, शेखपुरा पूर्वी एवं घाटकुसुम्भा प्रखंड की 11 पंचायत में कुल 839 विभिन्न पदों के लिए मतदान कराया जाएगा। जिसको लेकर जिला स्तरीय वरीय अधिकारियों की मौजूदगी में मंगलवार को पोलिंग पार्टी को डिस्पैच किया गया। निर्वाचन आयोग के अनुसार मंगलवार की देर शाम तक मतदान दल कर्मियों को रवाना कर दिया गया। पीठासीन पदाधिकारी सहित एक मतदान केंद्र पर छह कर्मियों को बैलट बॉक्स और सामग्री के साथ भेजा गया है। प्रखंड कार्यालय परिसर से पेट्रोलिंग पार्टी और पुलिस पदाधिकारी को ईवीएम मशीन के साथ रवाना किया गया है। साथ ही सभी मतदान के केंद्र शांतिपूर्ण तरीके से मतदान सम्पन्न कराने को लेकर बड़ी संख्या सुरक्षा बल एवं मजिस्ट्रेट की तैनाती किया गया।

शेखपुरा पूर्वी में 77 पोलिंग पार्टी में 462 कर्मी
दोनों प्रखंड में शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव संपन्न कराने हेतु जिला प्रशासन के द्वारा शेखपुरा पूर्वी में 77 पोलिंग पार्टी में 462 कर्मी को लगाया गया है, जबकि घाटकुसुंबा प्रखंड में 60 पोलिंग पार्टी के साथ 240 कर्मी को लगाए गए हैं। जो अपने-अपने संबंधित मतदान केंद्रों पर शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न कराएंगे। इसको लेकर जिला प्रशासन के द्वारा मंगलवार को दोनों प्रखंडों में बैठक कर सभी कर्मियों को कई आवश्यक निर्देश दिए हैं।

12 जोन का निर्धारण कर दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है, ताकि शरारती तत्व नहीं कर सकें हंगामा

पंचायत चुनाव को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने को लेकर पूरे क्षेत्र में 12 जोन का निर्धारण किया गया है। वहीं, प्रत्येक जोन में दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। जिला प्रशासन के अनुसार मतदान के दिन सुबह 06 बजे से ही क्षेत्र में उपस्थित रहेंगे। विधि व्यवस्था बनाए रखने के साथ-साथ अपने अपने क्षेत्र में सभी पदाधिकारी को निरंतर गश्त करने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही असामाजिक तत्व के द्वारा मतदान प्रक्रिया में बाधा करने का प्रयास करने पर तुरंत कार्यवाही कर करने का निर्देश दिया गया।

खबरें और भी हैं...