लापरवाही / कंटेनमेंट जोन को न तो सैनिटाइज किया गया और न ही किसी मजिस्ट्रेट की प्रतिनियुक्ति हुई

The Containment Zone was neither sanitized nor deputed by any Magistrate
X
The Containment Zone was neither sanitized nor deputed by any Magistrate

  • सैंपल देने के बाद एक शादी कार्यक्रम में शामिल हुई थी टीकाकर्मी, इसलिए खांड पर मोहल्ले में बढ़ रही संक्रमितों की संख्या
  • महिला टीकाकर्मी, उसके पति, दो पुत्र, चचेरी सास, देवर व दो भतीजी की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

शेखपुरा. जिले के शहरी इलाकों में कोरोना के सामुदायिक संक्रमण के चेन में स्थानीय लाेग धीरे-धीरे चपेट में आ रहे हैं। अब तक शहरी इलाके के खांड पर मोहल्ले में महिला टीकाकर्मी, उसके पति, दो पुत्र, चचेरी सास, देवर व दो भतीजी की रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गयी है। इसके बाद आनन-फानन में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सभी लोगों को जखराज स्थान स्थित कोविड केयर सेंटर में आइसोलेट किया और जिला प्रशासन ने उक्त क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए सील कर दिया है। बताया जा रहा है कि सैंपल देने के बाद एक शादी समारोह में टीकाकर्मी शामिल हुई थी।

खांड पर मोहल्ले में कोरोना संक्रमण के चेन की बढ़ने की संभावना  है। हाई रिस्क जोन घोषित खांड पर मोहल्ले में आसपास के लोग भी कोरोना की चपेट में आ सकते हैं। हालांकि अभी स्वास्थ्य विभाग के द्वारा संक्रमण की संख्या बढ़ने की पुष्टि नहीं की गई है। लेकिन स्थानीय लोगों की मानें तो मोहल्ले में 1 दर्जन से अधिक लोग संक्रमित हैं जिसे संदिग्ध होने के आधार पर स्वास्थ्य विभाग के द्वारा आइसोलेट किया गया है। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग के द्वारा मोहल्ले से 50 से अधिक लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। जिसकी रिपोर्ट अभी आनी बाकी है।

वहीं, अनुमंडल पदाधिकारी ने अपने आदेश में उक्त क्षेत्र में अनाधिकृत व्यक्तियों के आवागमन पर रोक लगाते हुए तीन शिफ्टों में मजिस्ट्रेट की तैनाती की बात कही है। लेकिन उनका आदेश सिर्फ कागजों पर ही सिमट कर रह गया है और कंटेनमेंट ज़ोन में एक भी मजिस्ट्रेट की तैनाती नहीं है। जिसके कारण बेरोकटोक मुहल्लेवासियों का आवागमन जारी है। इस बाबत स्थानीय निवासी रंजीत कुमार, अभिषेक कुमार सहित अन्य लोगों ने बताया कि जिला प्रशासन के द्वारा 2 दिन पूर्व ही मुहल्ले की गलियों का सैनिटाइजेशन किया गया था।

इधर खांड पर मुहल्ले से लिये जांच लिए सैम्पल में ट्रू नेट से दो पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इसकी पुष्टि करते हुए स्वस्थ विभाग के डीपीएम श्याम कुमार निर्मल ने बताया कि खांड पर मुहल्ले से कुल 23 मरीज़ की जांच हेतु सैम्पल लिए गए थे। जिसका ट्रू नेट मशीन में जांचोपरांत दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गयी है। उन्होंने कहा कि संदिग्ध के आधार पर उक्त दोनों का सैम्पल जांच हेतु पटना भेजा गया है।

नहीं किया गया सैनिटाइजेशन
खांड़डपर मोहल्ले में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद जिला प्रशासन ने कंटेनमेंट जोन घोषित किया है लेकिन जिला प्रशासन की लापरवाही देख स्थानीय लाेगाें ने बांस बल्ला से घेरकर रास्ता सील कर दिया है। मुहल्ले में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के द्वारा तत्परता दिखाते हुए पहले दिन संक्रमित के घर के आसपास सैनिटाइजेशन किया गया था। उसके बाद अभी तक सैनिटाइजेशन नहीं किया गया है। वहीं, मोहल्लेवासियों ने जिला प्रशासन से लगातार एक सप्ताह तक  सैनिटाइजेशन करने की मांग कर रहे हैं।

नहीं की जा रही स्वास्थ्य जांच
खाण्ड पर मोहल्ले में संक्रमित मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्थानीय लोगों की स्वास्थ्य जांच नहीं की गई है। हालांकि कुछ लाेगाें ने खुद से कोरोना जांच केंद्र पर जाकर कोरोना की जांच करवा ली है। लेकिन अभी भी मोहल्ले के 70 फीसदी से अधिक लोगों की जांच नहीं हो पायी है। वहीं, स्थानीय लोगों ने बताया कि कोरोना जांच केंद्र पर अधिक भीड़ होने के कारण जांच करने में समस्या हो रही है अगर स्वास्थ्य विभाग के द्वारा घर-घर जाकर जांच की जाएगी तो हम लोगों को आसानी होगी। इसको लेकर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग से जल्द से जल्द घर-घर जाकर जांच करने की मांग कर रहे हैं ।

बेरोकटोक घूम रहे हैं मोहल्लेवासी
कंटेनमेंट जोन घोषित हुए मोहल्ले में बेरोकटोक मोहल्लेवासी आवागमन कर रहे हैं। कंटेनमेंट जोन होने के कारण खाण्ड पर मोहल्ले के दोनों प्रवेश द्वार को सील कर दिया गया है। इसके बावजूद भी लोग सील किए गए बैरियर के नीचे से निकलकर बाजार में खरीदारी करने पहुंच रहे हैं। साथ ही दूसरे गांव से सब्जी व दूध देने वाले कंटेनमेंट जोन में आसानी से प्रवेश कर रहे हैं। जिससे संक्रमण का खतरा अधिक बढ़ता जा रहा है। स्थानीय लोगों ने बताया कि कंटेनमेंट जोन घोषित होने के बाद मजिस्ट्रेट की तैनाती नहीं होने के कारण सब्जी विक्रेता व दूध विक्रेता आसानी से कंटेंटमेंट जोन में प्रवेश कर जा रहे हैं। हालांकि अनुमंडल पदाधिकारी अपने आदेश में मजिस्ट्रेट तैनाती की बात कही है, लेकिन वहां न तो कोई मजिस्ट्रेट देखा गया है और न ही पुलिस के द्वारा कंटेनमेंट जोन का निरीक्षण किया जा रहा है।

नहीं हैं तैनात मजिस्ट्रेट व सुरक्षा बल
खाण्ड पर मोहल्ले में शांति व विधि व्यवस्था को बनाए रखने के लिए कंटेंटमेंट जोन घोषित कर सील कर दिया गया है। वही, सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराने को लेकर विभिन्न स्थानों पर मजिस्ट्रेट व पुलिस पदाधिकारी नियुक्त किया गया है। जिसको लेकर वीरेंद्र कुमार महतो के घर के पास हसनगंज के प्राथमिक विद्यालय के सहायक शिक्षक दीपक कुमार वर्णवाल, तरछा मध्य विद्यालय के सहायक शिक्षक कुंदन कुमार एवं प्राथमिक विद्यालय मकतब संघ सकुनत के शिक्षक नजीब उर रहमान को प्रतिनियुक्त किया गया था।

इसके साथ ही विजय कुमार महतो के घर के पास जमालपुर मध्य विद्यालय के सहायक शिक्षक सुधीर कुमार दास मध्य विद्यालय कक्षा के सहायक शिक्षक विजय दास एवं मध्य विद्यालय अबगिल के शिक्षक असलम जावेद को प्रतिनियुक्त किया गया था। लेकिन मंगलवार को दैनिक भास्कर की टीम के द्वारा दोनों स्थानों के निरीक्षण के दौरान कोई भी मजिस्ट्रेट व सुरक्षा बल कर्तव्य पर तैनात नहीं पाया गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना