पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उदासीनता:गांव है अभी विकास से वंचित, जनहितकारी योजनाओं के सहारे कैसे होगी नैया पार

शेखपुरा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शेखपुरा जिले के औंधे पंचायत में तमाम दावों के बीच समस्याएं बरकरार

शेखपुरा जिले के औंधे पंचायत में तमाम दावों के बीच ग्रामीण आज भी रोज कुछ न कुछ समस्याओं से रुबरु होते रहते है। ग्रामीण क्षेत्रों में जल नल, नलीगली, सड़क, बिजली व स्वास्थ्य सुविधाओं की काफी कमी होती है। ऐसे में औधे पंचायत सी जुड़ी कुछ खास बातें जो इस पंचायत को अन्य पंचायतों से बिल्कुल अलग करती है। सदर प्रखंड शेखपुरा के पूर्वी क्षेत्र में आने वाला औधे पंचायत की कुल आबादी लगभग चौदह हजार के करीब है तो यहाँ मतदाताओं की संख्या लगभग आठ हजार चार सौ है।

इस पंचायत में मुख्यतः दलित व अनुसूचित जातियों के लोगों की संख्या ज्यादा है। इसके अलावा यादव व चन्द्रवंशी समाज के लोग भी बहुतायत संख्या में है। इस पंचायत के अंतर्गत दुल्लापुर, चकमालदाह, राजोपुर, फरीदपुर, औधे, गोसाईंमढी, बिहटा, मंदना, बादशाहपुर, भिखम सहित कुल दस गाँव है। इस पंचायत में स्थित गोसाईमढी गाँव अपने आप में बहुत ही धार्मिक महत्व रखता है। यहां स्थित महारानी स्थान में लोग दूर-दूर से अपनी मन्नत पूरी करने हेतु पूजा करने आते है। दुर्गापूजा में इस स्थान मेला लगता है, जहाँ आस पास गाँवों के ग्रामीणों की भीड़ लगी रहती है। इस पंचायत में वर्तमान मुखिया द्वारा गली नली-जल नल के कार्य पूर्ण कर दिए जाने का दावा है। किंतु पंचायत के कई जगहों पर टूटी नली इस दावे को फेल करते नजर आते है। बहरहाल अब इस पंचायत में चुनाव की डुगडुगी बज चुकी है और तमाम दावों व वादों को लेकर प्रत्याशी औधे पंचायत के ग्रामीणों के बीच जाने लगे है।

औधे पंचायत का मुखिया पद अतिपिछड़ा महिला के लिए आरक्षित है। वर्तमान मुखिया इंदु देवी मैट्रिक पास है एवं वो पिछले चुनाव में 850 मत पाकर मुखिया बनी थी। इनके पति अरुण कुमार एक किसान है और अपनी मुखिया पत्नी के कार्यों में सहयोग भी करते है। मुखिया पद के चुनाव में नवनीता शर्मा 303 मत पाकर इनसे काफी पिछड़कर द्वितीय स्थान पर रहीं थी। औधे पंचायत में पांचवे चरण में चुनाव है। ऐसे में वर्तमान मुखिया इंदु देवी अपने द्वारा किये गए विकास कार्यों को लेकर फिर से चुनावी मैदान में दो दो हाथ करने के लिए तैयार है।

खबरें और भी हैं...