पहल:सामाचक में पुलिया और माउर में नाली बनेगी

शेखपुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक में शामिल सभापति व पार्षद। - Dainik Bhaskar
बैठक में शामिल सभापति व पार्षद।

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बरबीघा नगर परिषद की बैठक सभापति रौशन कुमार की अध्यक्षता में संपन्न हुई। इस बैठक में सभी 26 वार्डों के वार्ड पार्षदों ने जहां हिस्सा लिया। वहीं, कार्यपालक पदाधिकारी विजय कुमार बैठक से उपस्थित रहे। इस बैठक में विभिन्न बिंदुओं पर विचार विमर्श से किया गया और और सशक्त समिति के द्वारा सर्वसम्मति से कई प्रकार की योजनाओं को जहां पारित किया गया। वहीं विभिन्न तरह की योजना की रूपरेखा तैयार की गई। जिसमें वार्ड नंबर 2 सामाचक मोहल्ले में प्राथमिक विद्यालय के समीप से पुलिया निर्माण कराने तथा माउर गांव में नाली निर्माण कराने पर सहमति बनाई गई। शहरी क्षेत्र में सफाई व्यवस्था को और सुदृढ़ बनाने के लिए एनजीओ द्वारा बहाल सफाई कर्मियों की सेवा विस्तार कराने का निर्णय भी लिया गया।

बैठक में संविदा पर बहाल लेखापाल शशि कुमार को बिना समिति के सदस्यों की सहमति के पद से हटाए जाने पर गहरा क्षोभ प्रकट करते हुए पुनः कार्य पर लाने की योजना बनाई गई। वहीं, अब तक नगर परिषद क्षेत्र में मकान बनाने के लिए लोगों द्वारा दिए गए नक्शे को कार्यपालक पदाधिकारी द्वारा पारित नहीं किए जाने और लोगों को इसके लिए परेशान किए जाने पर सभापति के अलावा उपस्थित सदस्यों द्वारा क्षोभ प्रकट किया गया। सभापति रौशन कुमार द्वारा समिति के सदस्यों को बताया गया कि नगर परिषद नियमावली के अनुसार किसी भी कारण से अगर 60 दिनों के भीतर नक्शा पारित नहीं किया जा सका तो स्वतः पास हो जाएगा। बैठक में इस बात की चर्चा करते हुए निंदा की गई की जिस गैस पाइपलाइन के एवज में बरबीघा नगर परिषद को एक करोड़ 67 लाख रुपया की आमदनी होनी थी।

उसे बिना रकम लिए ही कार्यपालक पदाधिकारी ने स्वीकृत कर दिया। जिससे नगर परिषद को इतनी राशि का नुकसान हो गया। इस संबंध में लोकायुक्त एवं नगर विकास विभाग के पास पत्र लिखकर पूरी स्थिति की जानकारी दिए जाने का निर्णय लिया गया। बैठक में सर्वसम्मति से यह प्रस्ताव लाया गया कि दशहरा की के पूर्व नगर परिषद क्षेत्र के विभिन्न मोहल्लों में जर्जर एवं खराब पड़े बिजली तार और पोल को दशहरा के पूर्व हटाया जाए और नया तार एवं पोल के माध्यम से बिजली आपूर्ति की जाए। इसके लिए बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता को समिति द्वारा लिए गए निर्णय की जानकारी दी गई और बैठक में उपस्थित कनीय अभियंता तुरंत कार्य शुरू कराए जाने को कहा गया।

खबरें और भी हैं...