पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नल जल का लाभ:ग्रामीणों को नहीं मिल रहा नल जल का लाभ, पाइप बिछाने में सड़क भी हुई गड्ढे में तब्दील

शेखपुरा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कागज पर सभी वार्डो में नल जल योजना का काम पूरा हो चुका

जिला में नल जल योजना में किस कदर लूट खसोट हुई है इसकी एक बानगी बरबीघा के पिजड़ी पंचायत में देखने को मिल रहा है। इस पंचायत के पांच गांवों में कुल 11 नल योजना पर काम पूरा किया गया है। लेकिन मात्र 10 से 20 घरों में पानी की आपूर्ति की जा रही है। ग्रामीण बताते है की कहीं पानी टंकी नदारद तो कहीं कभी पानी की आपूर्ति ही नहीं तो कहीं नल में टोटी ही गायब है। लेकिन कागज पर सभी वार्डो में नल जल योजना का काम पूरा हो चुका है।

पिजड़ी गांव के अजीत कुमार छोटू, संटु कुमार, अशोक कुमार आदि ने कहा कि पांच गांव के कुल 12 वार्ड में पीएचईडी की ओर से नल जल योजना पर काम किया गया है। इस पंचायत के कुसेढ़ी, भदरथी, पिजड़ी, महम्दा और डुमरी में इस योजना का हाल सबसे बुरा है। पिछड़ी बीघा गांव में तो नल जल योजना का काम सबसे पहले शुरू हुआ पर आज तक टंकी नहीं दिया गया है। कहीं टंकी है तो उससे आजतक पानी की आपूर्ति नहीं की गई है। साथ ही ग्रामीणों ने बताया कि कोई अधिकारी जांच में आता है तो संवेदक के द्वारा पंप चालू कर पानी की आपूर्ति दिखा दी जाती है।

कार्य में अनियमितता बरतने पर आठ ठेकेदारों पर जुर्माना

नल जल योजना में गड़बड़ी को लेकर अब तक आठ ठेकेदारों पर जुर्माना लगाने की कार्रवाई की गई है। पीएचईडी के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर आलोक रंजन ने बताया कि नल जल योजना में गड़बड़ी को लेकर ही आठ ठेकेदारों पर 25 हजार से लेकर दो लाख रुपया तक का जुर्माना लगाया गया है। वही चार ठेकेदार को डीवर घोषित किया गया है जिसमें ठेकेदार को पहला काम पूरा नहीं किये जाने तक दूसरा ठेका लेने पर प्रतिबंध रहता है। एक्जीक्यूटिव इंजीनियर ने बताया कि पिजड़ी के मामले में जेई को भेजकर जांच करायी जायेगी और यदि गड़बड़ी पाया गया तो संबंधित ठेकेदार पर कार्रवाई होगी। एक्जीक्यूटिव इंजीनियर ने कहा कि पाइप बिछाने मे तोड़े गये सड़कों की मरम्मती का भी आदेश सभी ठेकेदारों को दिया गया है।

खबरें और भी हैं...