तेउस का सूर्यमंदिर लोक आस्था का बड़ा केंद्र:छठ पूजा के लिए दूर-दूर से आते हैं व्रती, मंदिर की नींव वर्ष 2011 में रखी गयी थी

शेखपुरा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के बरबीघा प्रखंड के तेउस गांव स्थित सूर्य मंदिर छठ व्रत को लेकर लोक आस्था का प्रमुख स्थल बन गया है। मंदिर के पुजारी अम्बुज बिहारी सिंह कहते हैं कि यह सूर्य मंदिर का इतिहास काफी पुराना है। सैकड़ों वर्षो से चली आ रही यह परम्परा तथा आस्था के आधुनिक व्यवस्था तथा स्वच्छता ने लोगों को बड़े स्तर पर अपनी ओर खींचने में सफलता हासिल की है। मंदिर के व्यस्थापक अमर किशोर कहते है कि चैत और कार्तिक माह के पूरे दिन ग्रामीणों की सहयोग से मंदिर, घाट तथा गलियों की सफाई विशेष तौर पर की जाती है।

सुरक्षा के मद्देनज़र जिला प्रशासन द्वारा पूरी चाक-चौबंद व्यवस्था की जाती है।इस मंदिर की नींव वर्ष 2001 में ग्रामीणों के सहयोग से महेंद्र नारायण ने रखा था और धीरे-धीरे यह विशाल मंदिर बन गया है। छठ पर्व के मौके पर शेखपुरा व नालंदा जिले के आसपास के 35 से 40 गांव के लोग छठ पूजा के यहां पहुंचते है। फिलहाल इस मंदिर में गांव के ही रिटायर्ड शिक्षक अमर किशोर सिंह द्वारा प्रतिदिन प्रवचन दिया जाता है।

खबरें और भी हैं...