पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

खुलासा:वनपाल और शराब माफिया के गठजोड़ से जंगल में चल रहा शराब बनाने का धंधा, वीडियो आया सामने

शेरघाटी/इमामगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 03 मिनट 54 सेकेंड के वायरल वीडियो से जिले में फल-फूल रहे शराब व्यवसाय का हुआ खुलासा
  • सामने आये वीडियो में वन विभाग का कर्मी शराब के धंधेबाजों से बेहिचक मोल-भाव करते हुए दिखा

(सुधींद्र प्रसाद वर्मा\अजय कुमार) सूबे में पूरी तरह से शराब बंदी है। शराब की बिक्री, खरीदना, पीना, पिलाना, यहां तक की नशे की हालत में इस राज्य से गुजरना तक अपराध है। परन्तु सरकार के सख्त निर्देश के बावजूद गया जिले के इमामगंज क्षेत्र में वनकर्मी और शराब माफिया के बीच बनी गठजोड़ अलग कहानी बयां कर रहा है। क्योंकि, शराब माफिया और वनकर्मी के बातचीत का एक वीडियो क्लिप दैनिक भास्कर के पास आया है। इसमें जंगल में एक पहाड़ी स्थान पर देशी शराब भट्ठी संचालित हो रही है। यहां शराब बनाने वाले आधा दर्जन लोग भी हैं। 
वीडियो में माफिया से बेहिचक मोल भाव किया जा रहा
इसी वीडियो में स्थानीय एक वनकर्मी भी है, जो शराब के धंधेबाजों से बेहिचक मोल-भाव करते हुए दिख रहा है। वनकर्मी शराब के धंधेबाज में से एक को एजेंट बनने की सलाह देता है और कहता है कि इस क्षेत्र में जितनी भी जगह देशी शराब की चुलाई हो रही है, उसकी जानकारी चाहिए। तीन मिनट 54 सेकेंड की वीडियो में शराब माफिया और वनकर्मी के गठजोड़ का खुलासा होता है। बातचीत में यह भी स्पष्ट रूप से यह भी बताया जाता है कि एक बोतल फूली देशी शराब 90-100 रुपए में बिकती है। बातचीत का वीडियो क्लिप दैनिक भास्कर के पास है।

स्थिति बता रही कि शराबबंदी कानून ढीला पड़ गया
वीडियो क्लिप के सामने आने से एक बात स्पष्ट हो गया कि है कि सरकारी रहनुमा और शराब माफिया के गठजोड़ से क्षेत्र में देशी शराब का धंधा फल-फूल रहा है। इतने बड़े पैमाने पर शराब का कारोबार होने से एक सवाल खड़ा हो गया है, कि क्या पुलिस प्रशासन और आबकारी विभाग के स्तर से शराबबंदी कानून को लेकर ढिलाई दे दी गई है। इधर, इस संबंध में वनपाल उमेश प्रसाद राम ने बताया कि ऐसा कुछ नहीं है। यह सब गलत बात है। मै कहीं नहीं जाता हूं। कोई मेरा फोटो डाल दिया होगा। ये सब डिलीट कर दीजिए।

वन विभाग का मामला : डीएसपी
वनपाल और वनरक्षी हमारे विभाग से नहीं आता है। इनलोग फॉरेस्ट विभाग से आते हैं। फॉरेस्ट विभाग के वरीय अधिकारी  कार्रवाई करेंगे। -अजीत कुमार, डीएसपी, इमामगंज

वनकर्मी के सरंक्षण में बन रही शराब 
वनकर्मी के सरंक्षण में इमामगंज क्षेत्र के कुनकराई, जलवार,  कादरगंज, करासन और कुईबार के जंगल इलाके में एक दर्जन से ज्यादा जगहों पर देशी शराब की भट्ठी संचालित की जा रही है। इसमें बड़े पैमाने पर देसी शराब का निर्माण किया जा रहा है और यहां से गांव-गांव व टोले तक सप्लाई की जाती है।

वीडियो क्लिप में बातचीत के अंश

वनपाल - लकड़ी कहां से लाता है? शराब माफिया एक - लकड़ी मुशहरवा देता है। शराब माफिया दो - इतना मोटा मुशहर देता है। वनपाल - तुम टेंशन क्यों लेता है, जलाएगा नहीं तो बनेगा कैसे। और कौन कौन है इधर  शराब माफिया - और आगे है सर। वनपाल - इधर है कि उधर है। शराब माफिया - उधर है। वनपाल - तुम सबसे हमको भेंट कराएगा। तुमको हम एजेंट बनाते हैं। समझ गए न शराब माफिया तीन - हम तो एजेंट हैं ही। ई जंगल में लकड़ी काटने से हम लोग ही रोके हुए हैं। वनपाल - ई हम न पूछ रहे हैं। तुम क्या करते हो, क्या न करते हो। जंगल में विशेष बात न करेंगे। चलो हमारे साथ। हमको सबसे परिचय कराओ। अन्य - कैसे बोतल फूली शराब बेचता है। शराब माफिया - 50 रुपए बोतल। वनपाल - फूली 50 के, ले जाकर तोड़ कर सौ रुपए में देगा। शराब माफिया - 90 में बिकता है। वनपाल - यहां से आकर लेे जाता है। शराब माफिया - नहीं हम घर में बेचते है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें