श्रद्धालुओं का उमड़ा जनसैलाब:सिमरी के श्रद्धालुओं के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है पड़री का दुर्गापूजा पंडाल

सिमरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • उड़ीसा के जगन्नाथ पुरी मंदिर की तर्ज पर पंडाल बनाकर मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की गई

वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच मां की पूजा अर्चना कर जयकारे के साथ मंगलवार की शाम माता रानी का पट श्रद्धालुओं के दर्शन हेतु खोल दिया गया।प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में मां दुर्गा का पट खुलते ही दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा।वही बुधवार को सिमरी, नियाजीपुर,गंगौली, बड़का राजपुर,छोटका राजपुर,केशोपुर,नगपुरा, पड़री,गायघाट, एकौना,कठार सहित अन्य ग्रामीण इलाकों में पूजा पाठ कर दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं का पूरे दिन ताता लगा रहा।

हालांकि प्रखंड क्षेत्र के कई ग्रामीण इलाकों में कलाकारों द्वारा भव्य से भव्य पंडाल बना कर मां की भव्य प्रतिमा स्थापित की गई है। लेकिन आशा पड़री का पंडाल क्षेत्रवासियों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। आशा पड़री गांव में मां की प्रतिमा उड़ीसा के जगन्नाथपुरी मंदिर की तर्ज पर पंडाल का स्वरूप बनाकर मां की प्रतिमा को स्थापित किया गया है।

वही मंगलवार को सप्तमी तिथि होने के कारण सिमरी स्थित मां कालरात्रि मंदिर मे रात्रि के समय विशेष पूजा अर्चना की गई। इस विशेष पूजा के दौरान हजारों की संख्या में श्रद्धालु एकत्रित हुए । निशा पूजा के दौरान श्रद्धालु मां कालरात्रि की जयघोष करते हुए मां की एक झलक पाने को बेताब दिखे।

इसके अलावा बड़का राजपुर बाजार,एवं दुबे के बगीचा,सिमरी रामोपट्टी,गायघाट, नियाजीपुर, नगपुरा,बलिहार,मझवारी, खरहताड, डुमरी,सहियार के अलावे अन्य ग्रामीण इलाकों के दुर्गा पूजा पंडाल की भव्यता के साथ माता रानी की प्रतिमा श्रद्धालुओं को आकर्षित कर रही है। इस दौरान प्रत्येक पूजा पंडालों में कोरोना गाइड लाइन का पालन अक्षरसः किया जा रहा है।

मनचलों पर रहेगी नजर
पूजा पंडालों के इर्द-गिर्द घूमने वाले नशेड़ीयो एवं मजनुओं की खैर नहीं। इस आशय की जानकारी देते हुए थानाध्यक्ष सुनील कुमार निर्झर ने बताया कि श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की असुविधा ना हो उसके लिए भारी पुलिस बल के साथ सादे कपड़ो में पुलिसकर्मी पंडालों के इर्द गिर्द मौजूद रहेंगे। ताकि असमाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखा जा सके।

खबरें और भी हैं...