पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बदहाल शिक्षा व्यवस्था:सुबह 9:30 बजे तक शिक्षक नहीं पहुंचे विद्यालय, लटका रहा ताला, बच्चों को रहना पड़ा बाहर

सिमरी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शिक्षक का इंतजार करते बच्चे। - Dainik Bhaskar
शिक्षक का इंतजार करते बच्चे।

अनुमंडल के सभी विद्यालय कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करते हुए बच्चों के लिए खोल दिया गया है विद्यालय के संचालन सुबह 9:00 बजे से शुरू होता है। लेकिन सिमरी प्रखंड के बड़का सिघनपुरा विद्यालय देर खुलता है शिक्षक का लेटलतीफी में पहुँचना होता है और कक्षा का संचालन पढ़ाई भी देर से शुरू होना बताया जाता है ऐसा मामला सोमवार को बड़का सिंघनपुरा प्राथमिक विद्यालय में देखने को मिला विद्यालय में पढ़ने के लिए 9:00 बजे से पहले ही छात्र-छात्राएं पहुंच गए थे लेकिन विद्यालय 9:00 बजे तो क्या 9:30 बजे तक भी नहीं खुला। जबकि विद्यालय में पढ़ने के लिए बच्चे पहुंच चुके थे । विद्यालय के गेट पर दर्जनों की संख्या में बच्चे खड़े थे जो विद्यालय खुलने और शिक्षक के आने का इंतजार कर रहे थे।

कई छात्र विद्यालय की चारदीवारी को फांद कर अंदर प्रवेश कर गए : कई छात्र विद्यालय की चारदीवारी को फांद कर अंदर प्रवेश कर गए थे। कई छात्र विद्यालय के छत व विद्यालय परिसर कमरों के बाहर खेल कूद रहे थे। ज्यादातर छात्र छात्राएं विद्यालय गेट पर खड़े होकर ताला खुलने व शिक्षक के इंतजार में खड़े थे।

छात्र अनुज कुमार, गोपाल कुमार सहित कई छात्रों ने एक आवाज में बताया कि स्कूल लेट खुलेला सर जी अभी नइखी आइल ..तले अभी हमनी के खेलेनिजा। बच्चों ने बताया कि विद्यालय में 6 से ज्यादा शिक्षक व शिक्षिका है लेकिन एक भी शिक्षक विद्यालय में 9:00 बजे तक नही आते हैं।

विद्यालय के प्रधानाचार्य ने बताया 9:30 में भी खुलता है कभी पौने नौ में भी खुलता है। प्राथमिक विद्यालय बड़का सिघनपुरा विद्यालय के प्रधानाचार्य सुरेश तिवारी से फोन से सम्पर्क किया गया उन्होंने कहा कि आज विद्यालय 9:30 में खुला है। कभी कभी तो पौने नव में भी खुलता है।

नौ बजे तक किसी भी हाल में विद्यालय को खोलना है: बीईओ
सिमरी प्रखंड के प्रभारी प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी ने बताया कि विद्यालय हर हाल में 9:00 खुल जाना चाहिए । विभाग के दिशा निर्देश का अवहेलना करने वाले को माफ नहीं किया जाएगा । जांच कर विद्यालय प्रबंधन पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...