पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सिसवन:ब्रह्मकुमारी बहनों ने चैनपुर में बांधी राखी बोलीं-रक्षाबंधन में बांधे मर्यादा का बंधन

सिसवन13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोविड 19 के संक्रमण को ध्यान रखते हुए सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय चैनपुर सेवा केंद्र में शनिवार को रक्षाबंधन का पर्व मनाया गया।संस्था में नियमित रूप से आने वाले भाई बहनों को ब्रह्मकुमारी सुधा बहन ने रखी बांधी ।बी के जय प्रकाश भाई ने कहा कि इस दिन का सभी भाइयों को इंतजार रहता है। बी के सुधा बहन ने कहा कि हम बहने पूरे सावन भर गांवो में ब्रम्हकुमार तथा कुमारियों को राखी बांधते हैं । इसी क्रम में चैनपुर में राखी बांधी गई।

उन्होंने राखी का आध्यात्मिक रहस्य बताते हुए कहा कि रक्षा बंधन का अर्थ है आत्मा की सर्वांगीण रक्षा। तन मन धन जन चरित्र धर्म मान पद आदि के लिए परम पिता परमात्मा शिव की ओर से बांधा गया बंधन। यह मर्यादा का बंधन है सद्गुणों का बंधन है ।शुद्ध दृष्टि वृत्ति कृति का बंधन है।इसलिए मस्तक पर तिलक लगाया जाता है जो संदेश देता है कि मिट्टी की देह को ना देख मस्तक पर जगमगाती आत्मा मणि को देखो और हर एक आत्मा भाई से आत्मिक स्नेह रखो।मुख मीठा कराने की पीछे भाव है कि हर एक आत्मा भाई के प्रति सुकून देने वाले मीठे वचन बोलो।

अंदर की बुराइयों को पिता परमात्मा को अर्पित कर देना ही इस त्यौहार का सच्ची उपहार है। उन्हों ने इस महामारी को ध्यान में रखते हुए कहा कि जब हम राजयोग मेडिटेशन करते हैं, तब हम अपने सामने एक चित्रण करते हैं। आप सोचें कि मैं सर्वशक्तिमान की संतान हूं। मेरे अंदर उनकी सारी शक्तियां हैं। मैं इस वायरस से लड़ सकता हूं।

कुछ दिनों के लिए मैं भीड़भाड़ की जगह पर नहीं जा रहा हूं। मास्क पहना है मैंने, हाथ साफ हैं। मैं स्वस्थ हूं। खेलता-कूदता है। इससे हमारा इम्युनिटी सिस्टम उतना ही शक्तिशाली हो जाएगा। जैसा हमारा मन सोचता है, हम वैसा ही काम भी करते हैं। रोजाना ऐसे राजयोग से हम मानसिक रूप से मजबूत होते हैं।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें