पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना का कहर जारी:ऑक्सीजन लेवल कम होने से महाराजगंज और डायट कोविड सेंटर में 13 लोगों की मौत

सीवानएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में खल रही वेंटिलेटर की कमी, सांस लेने में परेशानी होने पर डॉक्टरों को मरीजों की जान बचाना हो रहा है मुश्किल
  • 24 घंटे में 542 लोगों में मिला कोरोना का संक्रमण, घरों में ही रहने की दी गयी है सलाह

जिले में कोरोना से 13 लोगों की मौत हो गई। महाराजगंज डीसीएचसी में आंदर के वेदंत साह एवं चिंता देवी की उपचार के दौरान मौत हो गयी। दोनों को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। शहर के डायट में बड़हरिया प्रखंड के कृष्णा गिरि, रेखा देवी, कृष्णावती देवी एवं तेतरी देवी की जान चली गयी। दूसरी ओर भगवानपुर हाट के सारीपट्टी के एक युवक काे शुक्रवार को सीएचसी से कोविड अस्पताल महाराजगंज रेफर किया गया। लेकिन, अस्पताल पहुंचते ही उसकी मौत हो गईं। वह स्व. गणेश पांडेय का पुत्र उदय पांडेय बताया जा रहा है। कुछ घंटे बाद उसका शव उसी एंबुलेंस से गांव लाया गया। शव पहुंचते ही पूरे गांव में भय का माहौल बन गया परिवार में हाहाकार मच गया। युवक मजदूरी करता था। बताया जाता है कि गुरुवार तक वह बिल्कुल स्वस्थ था। जिले में जहां एक तरफ पॉजिटिविटी रेट में वृद्धि हुई है वहीं दूसरी तरफ इलाज के क्रम में मरनेवालों की संख्या में भी वृद्धि हुई है। चौबीस घंटे में कोविड जांच के दौरान 542 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। आरएमआरअआई से आई जांच रिपोर्ट में 24 घंटे में सबसे अधिक 369 व्यक्ति पॉजिटिव मिले। सदर अस्पताल में हुई जांच में 401 व्यक्ति पॉजिटिव मिले।

इन प्रखंडों में भी लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं कोरोना के मरीज
शुक्रवार को जिले में 1302 लोगों की रैपीड एंटीजन किट से जांच हुई। जांच में 133 व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिले हैं। एंटीजन जांच में आंदर 01,बसंतपुर 13,बड़हरिया 10,गोरियाकोठी 09,गुठनी 03,नौतन में 01,सिसवन 04,हसनपुरा 03,मैरवा 05,दरौंदा में 04,दरौंली 02,रघुनाथपुर 08,महाराजगंज 16,भगवानपुर हाट 03,सीवान सदर 01,लकड़ी नवीगंज 05,पचरूखी 16,सीवान जंक्शन 03 तथा सदर अस्पताल 26 व्यक्ति पॉजिटिव मिले। इस दौरान 310 व्यक्तियों का आरटीपीसीआर जांच एवं 164 व्यक्तियों का ट्रू नेट जांच के लिए सैंपल लिया गया।

डायट केंद्र में दाे दिनों के अंदर छह की मौत

शहर के डेडिकेटेड कोविड-19 सेंटर डायट में पिछले 48 घंटे के दौरान छह लोगों की मौत हो गई है। इन लोगों को ऑक्सीजन लेवल कम होने तथा सांस लेने में परेशानी होने के बाद डायट स्थित केंद्र में भर्ती कराया गया था, जहां पर डॉक्टरों की टीम इलाज कर रही थी। उन्हें ऑक्सीजन भी दिया जा रहा था। लेकिन, इलाज के दौरान इन मरीजों की मौत हो गई। मृतकों में धनौती गांव के भोला महतो का पुत्र घरभरन महतो शामिल है। उसकी मौत शुक्रवार की सुबह में हुई है। जबकि अन्य 5 लोगों की मौत गुरुवार को हुई है। इसमें जसौली गांव के प्रेम सागर सिंह की पत्नी अंजोरिया देवी, नाथूछाप की रश्मि देवी, सकरा गांव के अमरजीत शर्मा की पत्नी विमल देवी, मैरवा प्रखंड के कबीरपुर गांव के नगीना राम के पुत्र राजकिशोर राम तथा शहर के लक्ष्मीपुर के बृजेश श्रीवास्तव शामिल है।

महाराजगंज पीएचसी प्रभारी की मौत पर कर्मी दहशत में
महाराजगंज|
पीएचसी में आयोजित शोक सभा में शामिल डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी महाराजगंज पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ आरपी सिन्हा के आकस्मिक निधन पर शुक्रवार को पीएचसी में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए शोकसभा का आयोजन किया गया। शोक सभा की अध्यक्षता चिकित्सा पदाधिकारी डॉ वंदना कुमारी ने किया। डॉ वंदना कुमारी ने शोक सभा में डॉ आरपी सिन्हा के व्यक्तित्व एवं उनके कार्यों पर चर्चा करते हुए इसे अपूरणीय क्षति बताया। उन्होंने कहा कि उनकी भरपाई नहीं की जा सकती है। शोक सभा में उनकी आत्मा की शांति के लिए स्वास्थ्य कर्मियों ने दो मिनट का मौन रखा। शोक सभा में डॉ अजय कुमार सिंह, डॉ रवीश चंद्र, स्वास्थ प्रबंधक महताब आलम, एएनएम संगीता सिन्हा, सरिता कुमारी, सुरेश सिंह, अमित कुमार सिंह, अजित सिंह, श्रीराम सिंह, सुभाष कुमार, सोनू गुप्ता, उमाशंकर प्रसाद आदि थे। पीएचसी प्रभारी की कोरोना के संक्रमण से मौत हो गयी थी।

खबरें और भी हैं...